योगी सरकार में गौरक्षा के तमाम दावें फेल, प्रयागराज के एक गौशाला में 35 गायों की दर्दनाक मौत, उठे सवाल

योगी सरकार एक तरफ गोवंश संरक्षण को लेकर तमाम प्रयास में जुटी हुई है। लेकिन उसकी जमीनी हकीकत बेहद चौंकाने वाली है। प्रयागराज के कांदीगांव में एक साथ 35 से अधिक गायों की मौत हो गई।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

योगी सरकार गायों की रक्षा के लिए कई प्रवाधान लगा चुकी है और कई लाने की तैयारी में
भी है। गायों की सुविधा देने के लिए योगी सरकार ने सेस भी लगाया है। इसके अलावा उनके ले जाने के लिए प्रमाणपत्र लेना अनिवार्य किया जा रहा है। इन सब के बावजूद योगीराज में एक साथ 35 गायों की मौतके कारण हड़कंप मच गया और इसके साथ ही योगी सरकार की गौरक्षा पर भी सवाल उठने लगा है।

दरअसल, उत्तर प्रदेश में योगी राज में प्रशासन की बड़ी लापरवासी सामने आई है। प्रयागराज के बहादुरपुर ब्लॉक के कांदी गांव के गौशाला में 35 गायों की मौत हो गई है। गौशाला में न तो शेड है और न ही कोई साफ-सफाई की व्यवस्था। गौशाला से पानी निकलने का भी इंतजाम नहीं है। खबरों के मुताबिक, भारी बारिश के बाद गौशाला में पानी जमा हो गया था। गाएं कीचड़ में फंस गई थीं। वहीं प्रशासन ने गायों की मौत के पीछे बिजली गिरना बताया है।

स्थानीय लोगों के मुताबिक, गौशाला में गायों के रखरखाव और खाने पीने को लेकर उचित इंतजाम नहीं थे। ग्राम प्रधान ने तालाब को गौशाला में बदला था। पिछले 3 दिनों से हो रही बारिश के कारण गौशाला में पानी भरने और गंदगी के कारण 35 गायों की मौत हो गई।

खबरों के मुताबिक गौशाला के अंदर की तस्वीरें बेहद हैरान करने वाली हैं, जिनमें मृत गायों को गड्ढे में धकेलकर पाटा जा रहा है। जो गाय जिंदा बची हुई है उनके इलाज के बजाय उनपर चादर डाल दी गई है।

वहीं प्रशासन के दावों पर भी स्थानीय लोगों ने सवाल उठाया है। ग्रामीणों ने सवाल उठाते हुए कहा कि अगर बिजली गिरती तो यहां के लोगों को पता नहीं चलता? अगर बिजली गिरती तो पानी में सारे जानवर मर गए होते।

लोकप्रिय