स्वतंत्रता दिवस पर कुछ कविताएं, कुछ गीत

आज देश आजादी का जश्न मना रहा है। इस मौके पर हम प्रस्तुत कर रहे हैं कुछ गीत और कुछ कविताएं...जिनमें परिलक्षित होता है आज का भारत...

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

मंगलेश डबराल की कविता - हत्यारों का घोषणापत्र

स्वतंत्रता दिवस पर कुछ कविताएं, कुछ गीत

विष्णु खरे की कविता - डरो

स्वतंत्रता दिवस पर कुछ कविताएं, कुछ गीत

वीरेन डंगवाल की कविता - परंपरा

स्वतंत्रता दिवस पर कुछ कविताएं, कुछ गीत

सभी कविताएं कविताकोश से सधन्यवाद

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia