निदास ट्रॉफी : रोहित, रैना, सुंदर ने भारत को फाइनल में पहुंचाया

भारत ने बुधवार को आर. प्रेमदासा स्टेडियम में खेले गए निदास ट्रॉफी त्रिकोणीय टी-20 सीरीज के पांचवें मैच में बांग्लादेश को 17 रनों से मात देते हुए फाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली है।

मैन ऑफ द मैच रोहित शर्मा (89) और सुरेश रैना (47) के बीच हुई शतकीय साझेदारी के बाद वॉशिंगटन सुंदर (22-3) के दम पर भारत ने बुधवार को निदास ट्रॉफी त्रिकोणीय सीरीज के पांचवें मैच में बांग्लादेश को 17 रनों से मात देते हुए फाइनल में जगह पक्की कर ली।

भारत ने आर. प्रेमदासा स्टेडियम में खेले गए मैच में बांग्लादेश के सामने 177 रनों की चुनौती रखी थी। बांग्लादेश की टीम मुश्फीकुर रहीम की नाबाद 72 रनों की पारी के बावजूद लक्ष्य हासिल नहीं कर पाई और पूरे 20 ओवर खेलने के बाद छह विकेट के नुकसान पर 159 रन ही बना सकी। सुंदर के अलावा भारत के लिए शार्दूल ठाकुर, मोहम्मद सिराज और युजवेंद्र चहल ने एक-एक विकेट लिए।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी बांग्लादेश को सुंदर ने अच्छी शुरुआत से महरूम रखा। उन्होंने 5.4 ओवरों में 40 के स्कोर तक ही बांग्लादेश के तीन बल्लेबाज पवेलियन भेज दिए। दूसरे ओवर में उन्होंने लिटन दास (7) को दिनेश कार्तिक के हाथों 12 के कुल स्कोर पर स्टम्पिंग कराया। 35 के कुल स्कोर पर सुंदर ने शानदार गेंद पर सौम्य सरकार (1) की गिल्लियां बिखेरीं और फिर तमीम इकबाल (27) को अपना शिकार बनाया।

कप्तान महामुदुल्लाह (11) उम्मीदों पर खरा नहीं उतर सके और चहल की गेंद पर लोकेश राहुल के हाथों लपके गए। 61 रनों पर ही अपने चार विकेट खो चुकी बांग्लादेश को फिर रहीम और सब्बीर रहमान (27) ने संभालने की कोशिश की और पांचवें विकेट के लिए 65 रनों की साझेदारी की, लेकिन ठाकुर ने 17वें ओवर की चौथी गेंद पर रहमान को बोल्ड कर बांग्लादेश की हार लगभग तय कर दी। यह साझेदारी टी-20 में बांग्लादेश के लिए पांचवें विकेट के लिए अभी तक की सबसे बड़ी साझेदारी भी है।

इसके बाद 150 के कुल स्कोर पर मोहम्मद सिराज ने मेहेदी हसन मिराज (7) को आउट कर बांग्लादेश को छठा झटका दिया। अंतिम ओवर में बांग्लादेश को 28 रनों की दरकार थी जिसे वो हासिल नहीं कर पाई। रहीम ने अपनी नाबाद पारी में 55 गेंदों का सामना करते हुए आठ चौके और एक छक्का लगाया।

इससे पहले, एक समय भारत 180 रन के पार जाता दिख रहा था लेकिन दो विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज रुबैल हुसैन ने आखिरी ओवर में सिर्फ चार रन देकर भारत को 20 ओवरों में तीन विकेट के नुकसान पर 176 रनों पर रोक दिया।

रैना आखिरी ओवर की पहली गेंद पर आउट हुए तो रोहित आखिरी गेंद पर रन आउट। रोहित ने 61 गेंदों की अपनी पारी में पांच चौके और इतने ही छक्के जड़े। रैना तीन रनों से अपने अर्धशतक से चूक गए। उन्होंने 30 गेंदों की पारी में पांच चौके और दो छक्के लगाए।

निर्णायक मुकाबले में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम को इस सीरीज में पहली बार अच्छी शुरुआत मिली। रोहित और शिखर धवन (35) ने टीम के लिए पहले विकेट के लिए 9.5 ओवरों में 70 रन जोड़े। धवन और रोहित ने दूसरे ओवर में एक-एक चौका जड़ अपने इरादे जता दिए थे। पांचवें ओवर में बांग्लादेशी कप्तान ने ऑफ स्पिन मेहंदी हसन मिराज को लगाया लेकिन रोहित ने इस ओवर में शानदार छक्का जड़ उनके आत्मविश्वास पर गहरी चोट की। इसी बीच फॉर्म में चल रहे धवन, रुबेल की गेंद पर गच्चा खा गए और पवेलियन लौट लिए। उन्होंने 27 गेंदों में पांच चौके और एक छक्का लगाया।

इसके बाद रैना ने रोहित का साथ दिया। रैना ने रनों की गति रुकने नहीं दी। इसी बीच रोहित ने 13वें ओवर की चौथी गेंद पर एक रन लेकर अपना अर्धशतक पूरा किया। इसके लिए उन्होंने 42 गेंदों का सामना किया।

रैना ने हसन पर 14वें ओवर में एक छक्का और एक चौका जड़ा। इस जोड़ी ने अंत में तेजी से रन बटोरे। भारत ने आखिरी के पांच ओवरों में 40 रन बटोरे। रैना बड़ा शॉट खेलने के प्रयास में सीमा रेखा के पास सौम्य सरकार द्वारा लपके गए। उन्होंने रोहित के साथ दूसरे विकेट के लिए 102 रनों की साझेदारी को अंजाम दिया। रोहित आखिरी ओवर में रुबेल की सटीक यॉर्कर के कारण बड़ा शॉट नहीं लगा पाए और रन आउट हो गए।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

सबसे लोकप्रिय

अखबार सब्सक्राइब करें