ड्रोन से नापाक हरकत पर भारत ने जताई कड़ी आपत्ति, बीएसएफ ने पाक रेंजर्स के समक्ष दर्ज कराया विरोध

इस बैठक में बीएसएफ के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व बीएसएफ के डीआईजी सुरजीत सिंह ने किया, जबकि पाकिस्तान के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व सियालकोट सेक्टर के पाकिस्तान रेंजर्स के सेक्टर कमांडर ब्रिगेडियर मुराद हुसैन ने किया।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

पाकिस्तान रेंजर्स के अनुरोध पर शनिवार को जम्मू जिले के सुचेतगढ़ सेक्टर में अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) नेऔर पाकिस्तान रेंजर्स के बीच सेक्टर कमांडर स्तर की बैठक हुई। बीएसएफ ने एक बयान में कहा कि इस बैठक में बीएसएफ ने क्षेत्र में ड्रोन गतिविधियों में वृद्धि को लेकर पाक रेंजर्स के समक्ष कड़ा विरोध दर्ज कराया।

बीएसएफ के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व बीएसएफ के डीआईजी सुरजीत सिंह ने किया, जबकि पाकिस्तान के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व सियालकोट सेक्टर के पाकिस्तान रेंजर्स के सेक्टर कमांडर ब्रिगेडियर मुराद हुसैन ने किया। इस साल की शुरूआत में दोनों देशों के डीजीएमओ द्वारा संघर्ष विराम की घोषणा के बाद दोनों सीमा सुरक्षा बलों के बीच यह पहली सेक्टर कमांडर स्तर की बैठक थी।


बीएसएफ ने बयान में कहा कि बैठक के दौरान दोनों पक्षों के कमांडरों ने विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की, जिसमें बीएसएफ ने पाकिस्तान द्वारा क्षेत्र में हाल ही में की गई ड्रोन गतिविधियों पर विशेष जोर दिया और कड़ा विरोध दर्ज कराया। अन्य मुद्दों में सीमा पार से पाकिस्तान द्वारा आतंकवादी गतिविधियां, पाकिस्तान द्वारा सुरंगों की खुदाई और सीमा प्रबंधन से संबंधित अन्य मामले शामिल रहे।

बीएसएफ ने कहा कि बैठक में यह निर्णय लिया गया कि ऑपरेशनल मामलों को हल करने के लिए, जब भी आवश्यक हो, फील्ड कमांडरों के बीच तत्काल संचार को फिर से सक्रिय किया जाए। बीएसएफ ने कहा कि बैठक सौहार्दपूर्ण, सकारात्मक और रचनात्मक माहौल में हुई, जिसमें दोनों पक्ष अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर शांति और सद्भाव बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध होने के अलावा, पहले डीजी स्तर की वार्ता में लिए गए फैसलों को तेजी से लागू करने पर सहमत हुए।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;