कोरोना के कहर के बीच जनता पर महंगाई की मार जारी, लगातार चौथे दिन बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, रिकॉर्ड स्तर पर कीमतें

देश की सबसे बड़ी तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के मुताबिक, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में शुक्रवार को पेट्रोल 28 पैसे महंगा होकर 91.27 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया। डीजल की कीमत 31 पैसे बढ़कर 81.73 रुपये प्रति लीटर हो गई।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कोरोना के कहर के बीच देश की जनता पर तेल की कीमतों की मार जारी है। देश में लगातार चौथे दिन तेल के दाम बढ़ गए हैं। पेट्रोल-डीजल के दाम आज ऐतिहासिक उच्चतम स्तर पर पहुंच गए हैं। पेट्रोल की कीमतों में शुक्रवार को 28 पैसे तक और डीजल में 33 पैसे प्रति लीटर तक की बढ़ोतरी की गई। तेल की कीमतें अब तक के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई। चार दिन में दिल्ली में पेट्रोल 87 पैसे और डीजल एक रुपया महंगा हो चुका है।

देश की सबसे बड़ी तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के मुताबिक, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में शुक्रवार को पेट्रोल 28 पैसे महंगा होकर 91.27 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया। डीजल की कीमत 31 पैसे बढ़कर 81.73 रुपये प्रति लीटर हो गई।


पिछला रिकॉर्ड स्तर 27 फरवरी से 23 मार्च 2021 तक रहा था। इसके बाद चार राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश पुडुचेरी में होने वाले विधानसभा चुनावों के दौरान चार दिन पेट्रोल-डीजल के दाम घटाये गये थे, जबकि शेष दिन कीमतें स्थिर रखी गई थीं। चुनाव परिणाम के बाद 4 मई से लगातार दोनों ईंधनों के दाम बढ़ाए जा रहे हैं।

ऐसे तय होती है तेल की कीमत:

हर दिन पेट्रोल डीजल की कीमत बदलती है। विदेशी मुद्रा दरों के साथ अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड की कीमतें क्या हैं, इसके आधार पर रोज पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बदलाव होता है। पेट्रोल और डीजल की कीमत हर रोज तय करने का काम तेल कंपनियां करती हैं। डीलर पेट्रोल पंप चलाने वाले लोग हैं। वे खुद को खुदरा कीमतों पर उपभोक्ताओं के अंत में करों और अपने स्वयं के मार्जिन जोड़ने के बाद पेट्रोल बेचते हैं। पेट्रोल रेट और डीजल रेट में यह कॉस्ट भी जुड़ती है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 07 May 2021, 10:05 AM