2019 में शांति बहाली के नाम पर 4,196 घंटे इंटरनेट रहा बंद, डूबे 92 अरब रुपये, सबसे ज्यादा कश्मीर ने झेला

साल 2019 में देश के कई हिस्सों में शांति बहाल के नाम सरकार की तरफ से कई बार इंटरनेट बंद किया गया। पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा इंटरनेट पर प्रतिबंध लगाने वाला देश भारत ही है। साल 2019 में देशभर में करीब 4,196 घंटें इंटरनेट बंद रहा, जिसके चलते देश को करीब 9,245 करोड़ रुपए का नुकसान उठाना पड़ा है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

देश में इंटरनेट पर बैन लगाना आम बात हो गई है। कश्मीर को ही देख ले, यहां पर पिछले साल 5 अगस्त से इंटरनेट पर प्रतिबंध लगाया गया है। बीते दिनों की बात करें तो सीएए और एनआरसी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली और यूपी समते कई जगहों पर इंटरनेट को बंद किया गया था। आंड़कों के मुताबिक, साल 2019 में देशभर में करीब 4,196 घंटें इंटरनेट बंद रहा, जिसके चलते देश को करीब 9,245 करोड़ रुपए का नुकसान उठाना पड़ा है। इंटरनेट स्टडॉउन की रिपोर्ट के मुताबिक वैश्विक स्तर पर इंटरनेट बंद होने से साल 2019 में 8.05 बिलियन डॉलर (5,72,69 करोड़ रुपए) का नुकसान उठाना पड़ा है। इस नुकसान साल 2015-16 की तुलना में साल 2019 में 235 फीसदी बढ़ गया है।

इंटरनेट बंद के होने से भारत का काफी नुकसान हुआ है। आंकड़ों की बात करें तो नुकसान उठाने वाले देशों में भारत तीसरे स्थान पर है। भारत से ऊपर ईराक और सूडान है। इंटरनेटशटडाउंस डॉट इन के मुताबिक 2012 से लेकर 2019 तक भारत में कुल 379 बार इंटरनेट बंद किया गया है। केवल 2019 में ही 103 बार इंटरनेट को बंद किया गया है। वहीं इंटरनेट पर सबसे अधिक प्रतिबंध जम्मू-कश्मीर में 180 बार लगाया गया है। साल 2018 में देशभर में 134 बार इंटरनेट पर प्रतिबंध लगा था।


इंडियन काउंसिल फॉर रिसर्च ऑन इंटरनेशनल इकोनॉमिक रिलेशंस समेत दो थिंक टैंक की संयुक्त रिपोर्ट के मुताबिक, 2018 में दुनिया में होने वाले कुल इंटरनेट बैन में से 67 फीसदी भारत में प्रतिबंध हुए। जनवरी 2012 और जनवरी 2019 के बीच 60 शटडाउन ऐसे रहे जो 24 घंटे से कम अवधि के थे। रिपोर्ट के मुताबिक 55 बार इंटरनेट बंद 24 से लेकर 72 घंटों तक रहे और 39 बार शटडाउन 72 घंटों से ज्यादा तक रहे। अब तक का सबसे लंबा शटडाउन कश्मीर में चल रहा है। यहां पर 5 अगस्त, 2019 से इंटरनेट है। अब तक 136 दिन हो चुके हैं।

खबरों के मुताबिक, इंटरनेट बंद होने का सबसे ज्यादा असर वॉट्सएप पर रहा। इसके बाद फेसबुक और यू-ट्यूब प्रभावित हुआ। टॉप 10 वीपीएम की ओर से की गई एक स्टडी में सामने आया कि दुनियाभर में इंटरनेट बंद के कारण पिछले साल वॉट्सएप करीब 6,236 घंटे बाधित रहा।

2019 में पूरे विश्व में इंटरनेट प्रतिबंध के कारण करीब आठ अरब डॉलर (56 हजार करोड़ रुपये) का नुकसान हुआ. 21 देशों में इंटरनेट शटडाउन की 122 घटनाएं हुईं और करीब 18225 घंटे के लिए इंटरनेट पर प्रतिबंध लगा रहा।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


/* */