महाराष्ट्र में हो रही है विधायकों की खरीद-फरोख्त? शिवसेना बोली- कुछ लोग ‘थैली’ की बोल रहे हैं भाषा

शिवसेना सीएम पद को लेकर अड़ी हुई है। शिवसेना का कहना है कि ढाई साल उसका और ढाई साल बीजेपी का मुख्यमंत्री होगा। इसके पीछे शिवसेना का तर्क है कि लोकसभा चुनाव के दौरान अमित शाह के साथ हुई बैठक में इस बात पर मुहर लगी थी।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

महाराष्ट्र में सियासी जंग के बीच शिवसेना ने बीजेपी पर बड़ा हमला बोला है। शिवसेना ने बीजेपी पर इशारों-इशारों में विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया है। शिवसेना ने मुख पत्र सामना में कहा है कि कुछ लोग नए विधायकों से संपर्क कर थैली की भाषा बोल रहे हैं। शिवसेना ने कहा है कि राज्य में मूल्य विहीन राजनीति वो नहीं चलने देगी इसके लिए शिवसैनिक तलवार लेकर खड़े हैं। शिवसेना ने इसके साथ ही यह बताने की कोशिश की है कि राज्य में विधायकों की खरीद-फरोख्त की कोशिश की जा रही है।

शिवसेना मुख्यमंत्री पद को लेकर अड़ी हुई है। शिवसेना का कहना है कि ढाई साल उसका और ढाई साल बीजेपी का मुख्यमंत्री होगा। इसके पीछे शिवसेना का तर्क है कि लोकसभा चुनाव के दौरान अमित शाह के साथ हुई बैठक में इस बात पर मुहर लगी थी।


महाराष्ट्र में सरकार गठन करने के लिए सिर्फ शुक्रवार तक का समय बचा है। शिवसेना को इस बात का डर सता रहा है कि कहीं बीजेपी उसके विधायकों को न तोड़ ले। खबर है कि शिवसेना अपने विधायकों को होटल में शिफ्ट कर सकती है। हालांकि इस बात से शिवसेना ने सीधे तौर पर इनकार कर दिया है। संजय राउत ने शिवसेना द्वारा पार्टी के विधायकों को रिसॉर्ट में शिफ्ट करने के सवाल पर कहा, “हमें ऐसा करने की कोई आवश्यकता नहीं है, हमारे विधायक हमारे साथ मजबूती के साथ हैं। जो लोग इस तरह की अफवाहें फैला रहे हैं उन्हें पहले अपने विधायकों की चिंता करनी चाहिए।”

वहीं आज का दिन महाराष्ट्र में राजनीतिक घटनाक्रमों के लिहाज से बेहद अहम है। बीजेपी का एक प्रतिनिधिमंडल आज मुंबई में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात करेगा। बीजेपी नेता राज्यपाल के सामने सरकार बनाने का दावा पेश कर सकते हैं।

बुधवार को संजय राउत ने कड़ी प्रतिक्रिया दी थी। उन्होंने कहा था, “हम महाराष्ट्र के राज्यपाल से मिले, रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के रामदास अठावले ने भी उनसे मुलाकात की और अगर बीजेपी के नेता गुरुवार को राज्यपाल से मुलाकात करने जा रहे हैं तो वे दावा भी करें। उन्हें सरकार बनानी चाहिए, क्योंकि वे सबसे बड़ी पार्टी हैं।”

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 07 Nov 2019, 9:31 AM