क्या कर्नाटक के नतीजों के चलते लोकसभा चुनाव होगा स्थगित? शरद पवार ने BJP के मंसूबों पर जताई आशंका

पवार ने कहा कि बीजेपी का मुकाबला करने के लिए प्रभावी वैकल्पिक नेतृत्व तैयार करना समय की मांग है। उन्होंने कहा कि मैं चुनाव नहीं लड़ने जा रहा, इसलिए मैं जनता के सामने बीजेपी के खिलाफ एक विकल्प देने के लिए सभी विपक्षी दलों को एक साथ लाने की कोशिश कर रहा हूं।

शरद पवार ने बीजेपी के मंसूबों को लेकर जताई गंभीर आशंका
शरद पवार ने बीजेपी के मंसूबों को लेकर जताई गंभीर आशंका
user

नवजीवन डेस्क

एनसीपी के अध्यक्ष शरद पवार ने सोमवार को मुंबई में कहा कि कर्नाटक में हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव के नतीजों से राहुल गांधी की 'भारत जोड़ो यात्रा' का असर साबित हो गया है। इस दौरान उन्होंने एक बार फिर आशंका जताई कि कर्नाटक के परिणामों के कारण आम चुनाव स्थगित होने की संभावना है। हालांकि उन्होंने इसके बारे में विस्तार से कुछ नहीं बताया।

शरद पवार 2022-2023 में कन्याकुमारी से कश्मीर तक राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के पांच महीने पूरे होने के प्रभाव पर एक सवाल का जवाब दे रहे थे। अस्सी वर्षीय मराठा क्षत्रप ने कहा कि देश में बीजेपी का मुकाबला करने के लिए प्रभावी वैकल्पिक नेतृत्व तैयार करना समय की मांग है। पवार ने कहा कि मैं चुनाव नहीं लड़ने जा रहा हूं, इसलिए मैं जनता के सामने बीजेपी को एक व्यवहार्य विकल्प प्रदान करने के लिए सभी विपक्षी दलों को एक साथ लाने की कोशिश कर रहा हूं।


प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा सोमवार को महाराष्ट्र एनसीपी अध्यक्ष जयंत पाटिल से पूछताछ का जिक्र करते हुए पवार ने केंद्रीय जांच एजेंसियों के घोर दुरुपयोग द्वारा विपक्षी राजनीतिक नेताओं को परेशान करने के लिए सरकार की आलोचना की। पवार ने कहा कि एनसीपी के 10 नेता वर्तमान में ईडी और अन्य एजेंसियों की कार्रवाई का सामना कर रहे हैं। दूसरी ओर, परम बीर सिंह (मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त) के खिलाफ बहुत सारी शिकायतें थीं.. उस पर भी ध्यान दिया जाना चाहिए।

अपने वरिष्ठ पार्टी सहयोगी और राज्य के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि परमबीर सिंह की कथित भ्रष्टाचार की शिकायतों में कुछ नहीं निकला, लेकिन देशमुख को अनावश्यक रूप से 13 महीने जेल में बिताने पड़े। मराठी नेता ने कहा कि हो सकता है कि बीजेपी को एनसीपी (इस तरह के उत्पीड़न के जरिये) से कुछ उम्मीदें हों, लेकिन हम उन्हें संतुष्ट नहीं करने जा रहे हैं।


कथित तौर पर महाविकास अघाड़ी (एमवीए) के सहयोगियों- कांग्रेस-एनसीपी-शिवसेना (उद्धव गुट) के बीच सीट-बंटवारे के मुद्दों पर चर्चा करते हुए पवार ने मीडिया की सभी अटकलों को खारिज करते हुए स्पष्ट किया कि अब तक तीनों पक्षों द्वारा सीट बंटवारे के मामले पर चर्चा नहीं की गई है। उन्होंने कहा, हम सभी एकजुट होकर काम कर रहे हैं। एमवीए सहयोगी जल्द ही एक साथ बैठेंगे और आगामी बीएमसी चुनावों के लिए सीटों के बंटवारे पर चर्चा करेंगे।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;