चौतरफा घिरी AAP सरकार, सत्येंद्र जैन के बाद क्या सिसोदिया का नंबर है! अनिल चौधरी करेंगे आबकारी आयुक्त से शिकायत

दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चौधरी ने दिल्ली के सत्येंद्र जैन की बर्खास्तगी की मांग की है। उन्होंने साथ ही ऐलान किया है कि वे आबकारी आयुक्त से मिलकर डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के खिलाफ शिकायत दर्ज कराएंगे और सिसोदिया भी जल्द ही गिरफ्तार किए जाएंगे।

Getty Images
Getty Images

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अनिल चौधरी ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी द्वारा गिरफ्तार किए गए दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन की बर्खास्तगी की मांग की है। उन्होंने साथ ही ऐलान किया है कि वे आबकारी आयुक्त से मिलकर दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के खिलाफ शिकायत दर्ज कराएंगे और सिसोदिया भी जल्द ही गिरफ्तार किए जाएंगे।

हवाला मामले में दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री की गिरफ्तारी का स्वागत करते हुए अनिल चौधरी ने कहा कि, “उन्हें तो काफी समय पहले गिरफ्तार कर लिया जाना चाहिए था। लेकिन देर आयद दुरुस्त आयद..”

वहीं दक्षिण दिल्ली से बीजेपी सांसद रमेश बिधूड़ी ने कहा कि, “सत्येंद्र जैन को काफी समय पहले गिरफ्तार किया जाना चाहिए था लेकिन केजरीवाल ने विक्टिम कार्ड खेलकर उन्हें बचा लिया था। इस बार एजेंसियों के पास पुख्ता सबूत थे क्योंकि उन्हें पता था कि केजरीवाल फिर से कोई नाटक करेंगे।”

ध्यान रहे कि आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने सत्येंद्र जैन की गिरफ्तारी की आलोचना करते हुए कहा है कि, “सत्येंद्र जैन की गिरफ्तारी 8 साल पुराने एक फर्जी केस में हुई है क्योंकि वे हिमाचल प्रदेश चुनावों के लिए पार्टी के प्रभारी हैं और बीजेपी को आगामी विधानसभा चुनाव हारने का डर सता रहा है।”

बता दें कि सत्येंद्र जैन को कोलकाता की एक कंपनी के साथ 2015-16 में हवाला लेनदेन के मामले में गिरफ्तार किया गया है। केंद्रीय एजेंसियां 2017 से ही इस बात की जांच कर रही हैं कि सत्येंद्र जैन के कई रिश्तेदार इस केस में शामिल हैं। आरोप है कि सत्येंद्र जैन ने अपने घोषित आमदनी के स्रोतों से कहीं अधिक संपत्ति बनाई है।

जैन की गिरफ्तारी से कोई दो महीने पहले प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने जैन और उनके परिवार से जुड़ी करीब 4.81 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त की थीं।


कांग्रेस नेता अनिल चौधरी ने कहा कि, “वैसे तो यह सीधा सा भ्रष्टाचार का मामला है, जिस तरह भ्रष्टाचार के आरोप के बाद पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री को सिर्फ एक स्टिंग ऑपरेशन सामने आने के बाद बर्खास्त किया गया उसी तरह मनी लॉन्ड्रिंग में गिरफ्तार सत्येंद्र जैन को भी केजरीवाल मंत्रीमंडल से बर्खास्त करें। लेकिन वे ऐसा नहीं करेंगे क्योंकि वह उनके सबसे करीबी हैं और केजरीवाल के लिए उगाही का काम करते हैं। यह एकदम दोगलापन है।”

उधर रमेश बिधूड़ी ने भी कहा कि, ”केजरीवाल अलीबाबा हैं और उनके 61 साथी हैं। केजरीवाल देश के अकेले मुख्यमंत्री हैं जिनके पास कोई मंत्रालय नहीं है क्योंकि वह अपने मंत्रियों के जरिए भ्रष्टाचार कराते हैं और खुद की छवि साफ सुथरी बनाए रखते हैं।” उन्होंने कहा कि मनी लॉन्ड्रिंग से जमा पैसे को चुनाव प्रचार में इस्तेमाल किया गया है और इसी भ्रष्टाचार से कमाए पैसे से केजरीवाल की छवि को दूध का धुला दिखा जा रहा है और उनके भ्रष्ट सहयोगियों को बचाया जा रहा है।

बिधूड़ी ने कहा कि, “इसमें कोई शक नहीं कि इस केस में केजरीवाल भी शामिल पाए जाएंगे। भ्रष्टाचार के कई और केस सामने आएंगे। जल बोर्ड घोटाला, ट्रांसपोर्ट घोटाला भी खुलेगा। इन सारे घोटालों के लिए केजरीवाल मुख्यमंत्री के तौर पर जिम्मेदार हैं क्योंकि वहीं इन सबके मुखिया हैं। जो लोग केजरीवाल की बात नहीं मानते हैं उन्हें प्रशांत भूषण, योगेंद्र यादव और कुमार विश्वास की तरह बाहर का रास्ता दिखा दिया जाता है।”

जैन की गिरफ्ती से उन आरोपों पर सवालिया निशान लगा है जिसमें आम आदमी पार्टी को बीजेपी की बी टीम कहा जाता रहा है। इस पर कांग्रेस के अनिल चौधरी ने कहा कि, “हम अपने इस रुख पर कायम हैं कि आप बीजेपी की बी टीम ही है क्योंकि यह केस इतना गंभीर है कि बीजेपी भी उनकी मदद नहीं कर सकती।”

उन्होंने आगे कहा कि, “सत्येंद्र जैन की गिरफ्तापी बीजेपी के लिए सौदेबाजी का जरिया भी हो सकता है, हमें पता है कि पंजाब चुनाव से पहले जनवरी में केजरीवाल ने बयान जारी किया था कि केंद्रीय एजेंसियां सत्येंद्र जैन को गिरफ्तार कर सकती हैं ताकि आप को पंजाब चुनाव में बदनाम कर राजनीतिक फायया उठा जा सके लेकिन उस समय कोई गिरफ्तारी नहीं हुई, क्योंकि अगर ऐसा होता तो वे विक्टिम कार्ड खेलते, लेकिन हकीकत यह है जब से दिल्ली में आप की सरकार बनी है तब से ही दिल्ली में भ्रष्टाचार की गुना बढ़ चुका है।”

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia