‘कल्कि भगवान’ के ‘बैकुंठ’ का आईटी विभाग ने किया पर्दाफाश, घबराए महाराज ने दी सफाई, कहा- नहीं छोड़ा देश

विष्‍णु भगवान के 10वें अवतार कल्कि भगवान खुद को बताते हुए विजय कुमार नाम के शख्‍स आयकर विभाग की चंगुल में बुरी तरह फंस गया है। हालात यह है कि उन्होंने वीडियो जारी कर सफाई दी है कि मैं देश छोड़कर भागा नहीं हूं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

अपने को विष्‍णु भगवान के दसवें अवतार बताने वाले ‘कल्कि भगवान’ के नाम से मशहूर विजय कुमार नायडू आयकर विभाग की चंगुल में बुरी तरह फंस गए हैं। आईटी विभाग ने ‘कल्कि भगवान’ से जुड़े समूह के 40 ठिकानों पर छापेमारी करते हुए 600 करोड़ रुपए से ज्यादा के काला धन बरामद किया था। अब इस मामले में उन्होंने वीडियो जारी कर सफाई दी है।

वीडियो में उन्होंने सफाते देते हुए कहा, “वह देश छोड़ कर भागे नहीं हैं, वह यही भारत में हैं।” उन्होंने कहा कि न तो आयकर विभाग और ना ही सरकार ने कहा है कि मैं देश से भागा हूं। लेकिन यह मीडिया है जो सिर्फ कह रहा है कि हमने देश छोड़ दिया है।

गौरतलब है कि 16 अक्टूबर को आयकर विभाग ने आंध्र प्रदेश के चित्तूर स्थित कल्कि आश्रम और 39 अन्य ठिकानों पर छापेमारी की थी। आयकर विभाग की छापेमारी 16 अक्टूबर से शुरु होकर पांच दिन बाद रविवार को जाकर खत्म हुई। तीन राज्यों में कल्कि आश्रम से जुड़े ठिकानों पर आयकर छापे में अकूत बेनामी संपत्ति का खुलासा हुआ है। खबरों के मुताबिक, आयकर विभाग की छापेमारी के बाद 600 करोड़ की अघोषित आय का पता चला है।

18 अक्टूबर को आयकर विभाग ने एक बयान जारी करते हुए कहा था कि आश्रम और उसके ठिकानों पर मारे गए छापों में 43.9 करोड़ भारतीय मुद्रा, 18 करोड़ की विदेशी मुद्राएं और 31 करोड़ कीमत के सोने और हीरे के जेवरात बरामद हुए हैं। बता दें कि आयकर विभाग को सूचना मिली थी कि कल्कि भगवान के आश्रमों में आयकतर की चोरी की जा रही है, जिसके बाद आयकर विभाग ने 40 से ज्यादा ठिकानों पर छापेमारी की थी।

बता दें कि कल्कि भगवान उर्फ विजय कुमार की उम्र 70 साल की है और ये खुद को भगवान विष्णु का 10वां अवतार बताते हैं। इनका साम्राज्य आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और तमिलनाडु से लेकर विदेशों तक फैला हुआ है। इनके आश्रम को खुद कल्कि महाराज, उनकी पत्नी और उनका बेटा एनकेवी कृष्णा चलाता है।

लोकप्रिय
next