बिहार में नकली शराब पीकर मरना अच्छी प्रथा, आबादी होती है कम- नीतीश के करीबी JDU विधायक का विवादित बयान

जेडीयू के एक अन्य पूर्व विधायक श्याम बहादुर सिंह ने 17 जनवरी को सीवान जिले के गांधी मैदान में एक शराबी सम्मेलन आयोजित करने का दावा कर बवाल खड़ा कर दिया है। उन्होंने यह भी कहा कि शराबबंदी के फैसले से नीतीश कुमार की लोकप्रियता घट रही है।

फाइल फोटोः सोशल मीडिया
फाइल फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बिहार के सीएम नीतीश कुमार के करीबी जेडीयू विधायक गोपाल मंडल ने बुधवार को उस समय विवाद खड़ा कर दिया, जब उन्होंने कहा कि बिहार में लोग मरने के लिए जहरीली शराब पी रहे हैं। यह बयान ऐसे समय में आया है, जब बिहार में शराब की घटनाओं को लेकर नीतीश सरकार को आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है।

अक्सर अपने विवादित बयानों और कारगुजारियों के लिए चर्चा में रहने वाले जेडीयू विधायक गोपाल मंडल ने मीडियाकर्मियों से कहा, "सीएम नीतीश कुमार राज्य के लोगों से जहरीली शराब के सेवन से बचने की अपील कर रहे हैं। फिर भी लोग नकली शराब बनाकर पी रहे हैं। वे मरने के लिए नकली शराब पी रहे हैं।"


गोपाल मंडल ने कहा, "बिहार के लोगों का नकली शराब पीना और मरना एक अच्छी प्रथा है, क्योंकि यह समाज में जगह बनाता है और राज्य की आबादी को कम करता है। हमारे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार के लोगों को शराब पीने से बचने के लिए नियमित रूप से चेतावनी दे रहे हैं। फिर वे ऐसा क्यों कर रहे हैं?"

गोपाल मंडल बिहार के उन गिने-चुने विधायकों में से हैं, जो लगातार विवादों में रहते हैं और पिछले साल 2 सितंबर को राजेंद्र नगर-नई दिल्ली तेजस राजधानी एक्सप्रेस में अपने इनरवियर में घूमते हुए कैमरे में कैद हुए थे, जिस पर काफी बवाल हुआ था।

इस बीच जेडीयू के एक अन्य पूर्व विधायक और तीन बार के विधायक श्याम बहादुर सिंह ने 17 जनवरी को सीवान जिले के गांधी मैदान में एक शराबी सम्मेलन आयोजित करने का दावा किया। उन्होंने यह भी कहा कि शराबबंदी के फैसले से नीतीश कुमार की लोकप्रियता घट रही है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;