मध्य प्रदेश: मुसलमान होने के शक में जैन बुजुर्ग की पीट-पीट कर हत्या, BJP नेता निकला आरोपी! वीडियो वायरल

बताया जा रहा है कि सरपंच का पूरा परिवार 15 मई को भेरूजी पूजा करने चित्तौड़गढ़ गया था। 16 मई को पूजा-पाठ के बाद भंवरलाल लापता हो गए। गुरुवार को उनका शव मनासा (नीमच) में पुलिस थाने से आधा किमी दूर रामपुरा रोड पर मिला था।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

मध्यप्रदेश के रतलाम जिले में बुजुर्ग की पीट पीटकर हत्या का मामला सामने आया है। आरोप है कि जिले के सबसे बुजुर्ग सरपंच पिस्ताबाई चत्तर के बड़े बेटे भंवरलाल जैन को मुसलमान होने के शक के चलते मौत के घाट उतार दिया गया। खबरों की मानें तो पीटने वाला कोई और नहीं बीजेपी नेता है। बताया जा रहा है कि सरपंच का पूरा परिवार 15 मई को भेरूजी पूजा करने चित्तौड़गढ़ गया था। 16 मई को पूजा-पाठ के बाद भंवरलाल लापता हो गए। गुरुवार को उनका शव मनासा (नीमच) में पुलिस थाने से आधा किमी दूर रामपुरा रोड पर मिला था। अब भंवरलाल को पीटने का वीडियो सामने आया है।

आरोपी दिनेश कुशवाहा के खिलाफ FIR दर्ज

मीडिया में चल रही खबरों की मानें तो बुजुर्ग को पीटने वाला BJP नेता दिनेश कुशवाहा है। VIDEO में वह भंवरलाल से आधारकार्ड दिखाने का कहकर बुरी तरह पीटते हुए नजर आ रहा है। दिनेश ने नाम-पता पूछा तो मानसिक रूप से कमजोर भंवरलाल के मुंह से मोहम्मद निकला। यह सुनकर दिनेश टूट पड़ा। उसने आधारकार्ड मांगा और भंवरलाल को लगातार चांटे मारे। पुलिस ने मनासा (रतलाम) के दिनेश कुशवाहा पर FIR दर्ज कर ली है।

आपको बता दें, दिनेश भाजपा युवा मोर्चा और नगर इकाई में पदाधिकारी रहा है। उसकी पत्नी मनासा नगर परिषद में वार्ड नंबर 3 से भाजपा की पार्षद रही है। उधर, गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा का बयान आया था कि मृतक के परिजनों से उनकी बात हुई है। वहीं मृतक के छोटे भाई राजेश चत्तर ने बताया उनकी गृहमंत्री से कोई बात नहीं हुई।

9 मई को रामपुरा रोड पर भंवरलाल की लाश मिली

आपको बता दें, सरपंच पिस्ताबाई के परिवार के सभी लोग पूर्णिमा पर राजस्थान के चित्तौड़गढ़ किले पर भेरू पूजन करने गए थे। दूसरे दिन 16 मई को दोपहर 12 बजे भंवरलाल परिजनों को बिना बताए किले से नीचे उतर गए। परिजनों ने काफी तलाश की, लेकिन जब वे नहीं मिले तो चित्तौडगढ़ कोतवाली थाने में गुमशुदगी दर्ज करवाई। सबने सोचा कि वे बस में बैठकर अकेले जावरा आ गए होंगे, इसलिए वहां भी तलाश शुरू की, लेकिन गुरुवार 19 मई को दोपहर में मनासा के रामपुरा रोड पर भंवरलाल की लाश मिली।

पुलिस ने इसे अस्पताल में रखा और मृतक की शिनाख्त के लिए सोशल मीडिया पर फोटो वायरल किया। सरसी में जैसे ही छोटे भाई अशोक और राजेश को सूचना मिली उन्होंने मनासा पहुंचकर शव की पहचान की। शिनाख्ती के बाद शुक्रवार सुबह पोस्टमॉर्टम कर शव गांव लाए और अंतिम संस्कार किया।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia