मनी लॉन्ड्रिंग केस: दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री को लेकर जैन समाज की ED से मांग, मंदिर जाने की मांगी अनुमति

ईडी ने हाल ही में मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले में सतेंद्र जैन को गिरफ्तार किया था और उनसे फिलहाल पूछताछ जारी है। वहीं अदालत ने उनकी रिमांड की अवधि को सोमवार तक के लिए बढ़ा दिया है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

आईएएनएस

मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले में फंसे दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन को लेकर जैन समाज ने मांग की है कि जांच एजेंसियां उन्हें मंदिर जाने की अनुमति दें। अखिल भारतीय दिगंबर जैन युवा एकता संघ के मुताबिक, सत्येंद्र जैन एक सच्चे और ईमानदार श्रावक हैं। उनकी धर्म के प्रति अटूट आस्था है और इसी आस्था के चलते उन्होंने प्रतिदिन मंदिर दर्शन कर अन्न ग्रहण करने का नियम लिया हुआ है।

ईडी ने हाल ही में मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले में सतेंद्र जैन को गिरफ्तार किया था और उनसे फिलहाल पूछताछ जारी है। वहीं अदालत ने उनकी रिमांड की अवधि को सोमवार तक के लिए बढ़ा दिया है।

अखिल भारतीय दिगम्बर जैन युवा एकता संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष अभिषेक जैन बिट्टू ने कहा, "अखिल भारतीय दिगंबर जैन युवा एकता संघ और सकल जैन समाज केंद्र सरकार और जांच एजेंसियों से मांग करता है सत्येंद्र जैन को प्रतिदिन मंदिर दर्शन की अनुमति प्रदान की जाए। उन्हें पिछले 12 दिनों से जांच एजेंसियों ने हिरासत में लिया हुआ है, जिसके कारण वह मंदिर दर्शन नहीं कर पा रहे हैं और मंदिर न जा पाने के कारण वह 12 दिनों से केवल फल का ही सेवन कर पा रहे हैं।"

उन्होंने कहा, "वह कानून के प्रति पूरी आस्था रखते हैं। पिछले 7-8 सालों से जिस मामले की जांच चल रही है उसमें उन्होंने जांच एजेंसियों का पूरा सहयोग किया है। उन्हें जब भी बुलाया है, जहां भी बुलाया है, वह वहीं पहुंचे हैं। एक सच्चे श्रावक को मंदिर दर्शन की अनुमति प्रदान करनी चाहिए जिससे वह अपना नियम पालन कर सकें और अन्न ग्रहण कर सकें।"

दरअसल दिल्ली सरकार के मंत्री सत्येंद्र जैन को ईडी ने जिस मामले में गिरफ्तार किया है, वह मनी लॉन्ड्रिंग का है। साल 2017 में केंद्रीय जांच ब्यूरो ने सत्येंद्र जैन के खिलाफ प्रिवेंशन ऑफ करप्शन एक्ट के तहत केस दर्ज किया था। इसमें सत्येंद्र जैन पर मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप लगे थे। ईडी जिस मामले की जांच कर रही है, वह इसी पर आधारित है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia