जम्मू-कश्मीरः सेना के दो कैप्टन समेत 4 जवान शहीद, आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ जारी

भारतीय सेना ने बुधवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में महिलाओं और बच्चों को बचाने के लिए आतंकवादियों के खिलाफ एक ऑपरेशन के दौरान उसके दो अधिकारियों समेत चार बहादुर जवानों ने सर्वोच्च बलिदान दिया है।

जम्मू-कश्मीर में सेना के दो कैप्टन समेत 4 जवान शहीद, आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ जारी
जम्मू-कश्मीर में सेना के दो कैप्टन समेत 4 जवान शहीद, आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ जारी
user

नवजीवन डेस्क

जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में बुधवार सुबह सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच शुरू हुई भीषण मुठभेड़ में सेना के 2 कैप्टन समेत चार जवान शहीद हो गए हैं। सेना और पुलिस के जवानों ने इलाके को चारों ओर से घेर लिया है और आतंकियों के साथ मुठभेड़ जारी है। मुठभेड़ स्थल पर गोलीबारी जारी है। सेना और पुलिस के वरिष्‍ठ अधिकारी आतंकवादियों के खिलाफ अभियान की निगरानी के लिए मौके पर पहुंच गए हैं।

भारतीय सेना ने बुधवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में महिलाओं और बच्चों को बचाने के लिए आतंकवादियों के खिलाफ एक ऑपरेशन के दौरान उसके दो अधिकारियों समेत चार बहादुर जवानों ने सर्वोच्च बलिदान दिया है। सेना ने बताया कि ऑपरेशन अभी जारी है। इसमें दो अधिकारियों समेत सेना के चार जवान शहीद हो गए हैं।


सेना ने बयान में कहा है कि विशिष्ट खुफिया जानकारी के आधार पर 19 नवंबर 2023 को राजौरी जिले के कालाकोट क्षेत्र के गुलाबगढ़ जंगल में संयुक्त अभियान शुरू किया गया। 22 नवंबर को आतंकवादियों का पता चला और तीव्र गोलाबारी हुई। आतंकवादी घायल हो गए हैं और घिरे हुए हैं। भारतीय सेना की उच्चतम परंपराओं में महिलाओं और बच्चों को बचाने की कोशिश में अपने बहादुरों की वीरता और बलिदान के बीच ऑपरेशन जारी है।

जम्मू-कश्मीर पुलिस के मुताबिक बुधवार सुबह 9 बजे राजौरी जिले के कालाकोटे इलाके में आतंकियों के साथ मुठभेड़ शुरू हुई, जिसमें सेना के 2 कैप्टन और दो जवान शहीद हो गए हैं। अधिकारियों ने कहा कि चार घायलों में से तीन सैनिकों ने अस्पताल में दम तोड़ दिया, जबकि कालाकोट के बाजी इलाके में मुठभेड़ में एक की मौके पर ही मौत हो गई। अधिकारियों ने बताया कि मुठभेड़ स्थल पुलिस और सेना के वरिष्ठ अधिकारी आतंकवादियों के खिलाफ अभियान की निगरानी के लिए पहुंच गए हैं।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;