धारा 370 हटाने के बाद कश्मीर में हिंसक घटनाओं पर एडीजीपी का बड़ा बयान, पाबंदियों को लेकर दी अहम जानकारी

जम्मू-कश्मीर के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक मुनीर खान ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में 15 अगस्त को लेकर अच्छी तैयारी की गई है। उन्होंने मीडिया द्वारा किए गए एक सवाल के जवाब में कहा कि घाटी में 15 अगस्त का जश्न दबाकर मनाया जाएगा।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद घाटी में माहौल तनावपूर्ण हैं। घाटी में मौजूदा हालात को लेकर राज्य के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) मुनीर खान मीडिया से मुखातिब हुए। इस दौरान उन्होंने घाटी में हिंसक घटनाओं को लेकर बड़ा बयान दिया। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक ने माना कि घाटी में छिटपुट घटनाएं हुई हैं और कुछ लोग पैलेट गन से घायल भी हुए हैं। हालांकि उन्होंने मीडिया में आ रही वीडियो को 2016 और 2010 का बताया। गौरतलब है कि मीडिया में कुछ वीडियो सामने आए थे। रिपोर्ट में दावा किया गया था कि जुमे की नमाज के बाद घाटी में हिंसक घटनाएं हुई थीं। वहीं सरकार ने भी माना है कि जुमे की नमाज के बाद कुछ हिंसक घटनाएं हुई थीं।

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक मुनीर खान कहा, “जब कानून-व्यवस्था की एक नई स्थिति उत्पन्न होती है, तो पड़ोसी राज्यों सहित विपक्षी पार्टियां झूठी खबरें फैलाने में लग जाती है। 2016 और 2010 के वीडियो अब प्रचलन में हैं, प्रोपगेंडा का हिस्सा हैं। हम इन प्रयासों को विफल करने के लिए सभी उपाय कर रहे हैं।”

प्रेस कांफ्रेस के दौरान जम्मू-कश्मीर के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) मुनीर खान ने घाटी में मौजूदा हालात के बारे में जानकारी देते हुए कहा, “जम्मू से पाबंदियां हटा ली गई हैं। कश्मीर में भी कुछ स्थानों पर पाबंदियां रह गई हैं। इस वक्त हमारा मेन फोकस 15 अगस्त है, जिसे समूचे सूबे में शांतिपूर्वक मनाए जाने की तैयारियां कर ली गई हैं।"

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में 15 अगस्त को लेकर अच्छी तैयारी की गई है। उन्होंने मीडिया द्वारा किए गए एक सवाल के जवाब में कहा कि घाटी में 15 अगस्त का जश्न दबाकर मनाया जाएगा।

Published: 14 Aug 2019, 12:54 PM
लोकप्रिय