हालात

जम्मू-कश्मीर: बारामूला के वारपोरा में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, 2-3 आतंकियों के छिपे होने की खबर

वारपोरा इलाके में देर रात सेना को 2 से 3 आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी। जिसके बाद रात 2 बजे से सुरक्षा बलों ने इलाके में तलाशी अभियान शुरू किया था। सुबह करीब 4 बजे आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी, इसके बाद से मुठभेड़ जारी है।

फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

जम्मू-कश्मीर के सोपोर कस्बे में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ जारी है। इलाके में आतंकवादियों के होने की खुफिया सूचना मिलने पर सुरक्षा बलों ने वारपोरा गांव में खोज अभियान शुरू किया था। पुलिस ने कहा, “सुरक्षा बलों ने छिपे हुए आतंकवादियों के आसपास घेरा कड़ा कर दिया जिसे देख आतंकवादियों ने गोलीबारी शुरू कर दी और मुठभेड़ शुरू हो गई।”

खबरों के मुताबिक, देर रात सेना को इस इलाके में 2 से 3 आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी। जिसके बाद रात 2 बजे से सुरक्षा बलों ने इलाके में तलाशी अभियान शुरू किया था। सुबह करीब 4 बजे आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी, इसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई।

फिलहाल मुठभेड़ जारी है। प्रशासन ने सोपोर और आसपास के इलाकों में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगा दी है। इलाके में आने-जाने वालों पर कड़ी नजर रखी जा रही है।

इससे पहले पुलवामा के पिंगलेना गांव में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में सुरक्षा बलों ने जैश-ए-मोहम्मद के कमांडर कामरान उर्फ गाजी राशिद समेत तीन आतंकियों को मार गिराया था। सुरक्षा बलों ने दावा किया था कि कामरान वही आतंकी था, जिसने 14 फरवरी को पुलवामा आतंकी हमले की साजिश रची थी, जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। 17 फरवरी को यह मुठभेड़ शुरू हुआ था और करीब 18 घंटे बाद 18 फरवरी को यह मुठभेड़ खत्म हुआ था। वहीं इस कार्रवाई में एक मेजर समेत पांच जवान शहीद हो गए थे। इसके अलावा जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक डीआईजी रैंक के अधिकारी और सेना के एक ब्रिगेडियर भी घायल हुए थे।

Published: 22 Feb 2019, 9:39 AM
लोकप्रिय