जम्मू कश्मीर: पत्रकारों को धमकी देने वालों की तलाशी, पुलिस की 10 स्थानों में छापेमारी

हाल ही में एक दर्जन से अधिक पत्रकारों की सूची सार्वजनिक की गई थी, जिन पर सुरक्षा एजेंसियों के लिए काम करने का आरोप लगाया गया था। सूची में स्थानीय समाचार पत्रों के दो संपादकों के नाम भी शामिल हैं। इस घटनाक्रम की एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने निंदा की है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने स्थानीय पत्रकारों को आतंकी खतरे के सिलसिले में शनिवार को श्रीनगर, कुलगाम और अनंतनाग जिलों में 10 स्थानों पर छापेमारी की। पुलिस ने एक ट्वीट में कहा, पुलिस ने पत्रकारों को हालिया धमकी से संबंधित मामले की जांच के सिलसिले में श्रीनगर, अनंतनाग और कुलगाम में 10 स्थानों पर बड़े पैमाने पर तलाशी शुरू की।

धमकी के बाद पांच कश्मीरी पत्रकारों के इस्तीफे के बाद पुलिस ने यूएपीए (गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम अधिनियम) के तहत एक प्राथमिकी दर्ज की है। हाल ही में एक दर्जन से अधिक पत्रकारों की सूची सार्वजनिक की गई थी, जिन पर सुरक्षा एजेंसियों के लिए काम करने का आरोप लगाया गया था। सूची में स्थानीय समाचार पत्रों के दो संपादकों के नाम भी शामिल हैं। इस घटनाक्रम की एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने निंदा की है।


गिल्ड ने एक बयान में कहा, 'कश्मीर में पत्रकार अब खुद को राज्य के अधिकारियों के साथ-साथ आतंकवादियों के निशाने पर पाते हैं, जो कि 1990 के दशक में बढ़े हुए आतंकवाद के वर्षों की याद दिलाता है।' घाटी के पत्रकारों को आतंकवादी संगठन की धमकी के बाद पुलिस ने मामले की जांच तेज की। इसके साथ ही पत्रकारों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। टीआरएफ से जुड़े 12 लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;