जम्मू-कश्मीर मेरे घर जैसा, BJP-RSS यहां के भाईचारे को तोड़ने की कोशिश में लगे हैं: राहुल गांधी

राहुल गांधी ने कहा कि बीजेपी ने जम्मू-कश्मीर के लोगों से राज्य का दर्जा छीन लिया है, जिसे जल्द बहाल किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने यहां के लोगों के लिए कुछ नहीं किया है, जबकि कांग्रेस ने उनके लिए कई कल्याणकारी योजनाएं लागू की हैं।

फोटोः @INCIndia
फोटोः @INCIndia
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर में कार्यकर्ताओं की एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि वह भी एक कश्मीरी पंडित हैं और जब भी वह राज्य में आते हैं तो घर जैसा महसूस करते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि यहां के लोगों के बीच के भाईचारे की भावना को बीजेपी और आरएसएस के लोग तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं।

राहुल गांधी ने कहा कि "मुझे यहां आकर खुशी भी हो रही है और दुख भी हो रहा है। खुशी इस बात की कि मैं भी एक कश्मीरी पंडित हूं और जब भी यहां आता हूं घर जैसा महसूस करता हूं। दुख इसलिए क्योंकि आपके बीच जो भाईचारे का बंधन है उसे बीजेपी और आरएसएस के लोग तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं और इससे आप लोग कमजोर हो रहे हैं। इससे आपके व्यापार और अर्थव्यवस्था को चोट पहुंची है।”

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने कहा, “ये जो कांग्रेस का निशान है, 'हाथ का चिह्न', ये नानक जी, शिव जी, महावीर जी, बुद्ध जी और हर धर्म की तस्वीरों में दिखता है, मुस्लिम जब अल्लाह को याद करते हैं, तो हाथ दिखता है। इस हाथ का मतलब है- 'डरो मत'। सत्य बोलने से डरो मत, इसलिए ये चिह्न कांग्रेस पार्टी का चिह्न है और बीजेपी सच्चाई से डरती है।”


कांग्रेस नेता ने कहा कि बीजेपी ने जम्मू-कश्मीर के लोगों से राज्य का दर्जा छीन लिया है। जिसे बहाल किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने यहां के लोगों के लिए कुछ नहीं किया है जबकि कांग्रेस ने उनके लिए कई कल्याणकारी योजनाएं लागू कीं। कांग्रेस ने मनरेगा जैसी योजनाएं दी, कांग्रेस के दौरान जीडीपी ग्रोथ रेट 9% थी। कांग्रेस ने राष्ट्र को उन्नति के मार्ग पर आगे बढ़ाने वाली योजनाएं बनाई थी, जिसका असर ग्रोथ रेट पर भी नजर आया।

उन्होंने कहा, "मेरा परिवार एक कश्मीरी पंडित परिवार है। जम्मू-कश्मीर का मेरे दिल में एक विशेष स्थान है। कश्मीरी पंडितों का एक प्रतिनिधिमंडल आज मुझसे मिला तो उन्होंने कहा कि बीजेपी ने उन्हें मुआवजा देने का वादा किया था लेकिन उन्हें किसी भी तरह का कोई मुआवजा नहीं दिया गया। मैं अपने कश्मीरी पंडित भाइयों से वादा करता हूं कि मैं उनके लिए कुछ करूंगा।

बता दें कि राहुल गांधी दो दिवसीय जम्मू दौरे पर हैं। जम्मू-कश्मीर के बाद वह लद्दाख भी जाएंगे। उन्होंने बुधवार को रियासी जिले में पैदल चलकर माता वैष्णो देवी मंदिर में मत्था टेका, जहां उनके साथ जम्मू-कश्मीर कांग्रेस के अध्यक्ष जी.ए.मीर और कई पार्टी कार्यकर्ता और समर्थक थे, जो मंदिर की 13 किलोमीटर लंबी यात्रा के दौरान उनके साथ थे।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia