जी-20 सम्मेलन: पीएम मोदी ने ट्रंप के साथ की बैठक, चार अहम मुद्दों पर हुई चर्चा, मोदी ने दिया ये खास नारा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डोनाल्ड ट्रंप के साथ द्विपक्षी वर्ता में कहा कि भारत लोकतंत्र और शांति के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि ‘सबका साथ-सबका विकास’ हमारा मंत्र है। मोदी ने कहा कि भारत ‘मेक इन इंडिया’ के मंत्र के साथ आगे बढ़ रहा है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

जापान के ओसाका में जी-20 शिखर सम्मेलन शुरू हो गया है। सम्मेलन में हिस्सा लेने पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार सुबह अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ द्विपक्षी वर्ता की। दोनों नेताओं के बीच इस बैठक में कई अहम मुद्दों पर चर्चा हुई। मोदी-ट्रंप के बीच हुई द्विपक्षी वर्ता में ईरान, रक्षा, 5 जी और द्विपक्षीय संबंध समेत चार अहम मुद्दे शामिल थे।

पीएम मोदी ने कहा कि भारत लोकतंत्र और शांति के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि ‘सबका साथ-सबका विकास’ हमारा मंत्र है। मोदी ने कहा कि भारत ‘मेक इन इंडिया’ के मंत्र के साथ आगे बढ़ रहा है। वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत में हाल में हुए लोकसभा चुनाव में जीत हासिल करने के लिए पीएम मोदी को बधाई दी और मोदी की तारीफ की।

भारत और अमेरिका के बीच द्विपक्षीय बैठक के बाद इसमें जापान भी शामिल हुआ। तीनों देशों ने भारत-प्रशांत क्षेत्र को लेकर चर्चा की। त्रिपक्षीय वार्ता के दौरान पीएम मोदी ने जापान, अमेरिका और भारत को लेकर एक नाया नारा दिया। उन्होंने तीनों देशों को 'जय' (JAI) बताया। पीएम मोदी ने कहा कि ‘जय’ का मतलब ‘जीत’ है। वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि हम अच्छे दोस्त हैं और साथ मिलकर काम करेंगे। ट्रंप ने कहा कि हमारे देशों में इससे पहले इतनी नजदीकी कभी नहीं रही। ट्रंप ने कहा कि मैं यह बात पूरे यकीन के साथ कह सकता हूं कि हम लोग रक्षा समेत कई क्षेत्रों में मिलकर काम करेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जी-20 शिखर सम्मेलन से अलग ब्रिक्स देशों के नेताओं के साथ अनौपचारिक बैठक भी की। इस बैठक में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, पीएम नरेंद्र मोदी, ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोल्सोनारो, चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग और दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफौसा शामिल हुए और कई अहम मुद्दों पर चर्चा की। इस बैठक में पीएम मोदी ने आतंकवाद को मानवता के लिए सबसे बड़ा खतरा बताया है। उन्होंने कहा कि आतंकवाद बेगुनाहों की हत्या करने के साथ आर्थिक विकास और सामाजिक स्थिरता को बुरी तरह प्रभावित करता है। उन्होंने सभी देशों से आतकंवाद के खिलाफ मिलकर लड़ने की अपील की।

प्रधानमंत्री मोदी ने सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस सलमान से भी मुलाकात की। दोनों नेताओं के बीच इस बैठक में व्यापार, श्रमिक कानून समेत कई मुद्दों पर चर्चा हुई।

Published: 28 Jun 2019, 10:51 AM
लोकप्रिय