JDU ने यूपी चुनाव में बीजेपी के लिए खड़ी की मुश्किलें, 7 अक्टूबर से चुनावी अभियान के आगाज का किया ऐलान

इससे पहले जेडीयू के दिल्ली स्थित केन्द्रीय कार्यालय की एक बैठक में आरसीपी सिंह को बीजेपी से बातचीत के लिए अधिकृत किया गया था। बैठक में यूपी चुनावों पर चर्चा हुई। सूत्रों के अनुसार यूपी में करीब दो दर्जन सीटों पर जेडीयू चुनाव लड़ना चाहती है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बिहार में बीजेपी के साथ मिलकर सरकार चला रही नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) ने उत्तर प्रदेश में 7 अक्टूबर से अपने चुनावी अभियान की औपचारिक शुरूआत करने का ऐलान कर दिया है। इस दौरान पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा यूपी का दौरा करेंगे और कई कार्यकर्मों में शामिल होंगे।

पूर्व केंद्रीय मंत्री और जेडीयू संसदीय दल के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने बताया कि वो उत्तर प्रदेश में कुशवाहा समाज की एक सभा में शामिल होंगे जोकि उनका निजी कार्यक्रम है। इसके साथ ही प्रदेश के कई जिलों का दौरा करेंगे। उन्होंने बताया कि इस दौरान वो राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के तमाम छोटे दलों से संपर्क करेंगे। हालांकि उन्होंने ये भी साफ किया कि अगर जेडीयू और बीजेपी का गठबंधन नहीं हो पाया तो पार्टी अकेले या एनडीए के अन्य छोटे दलों के साथ गठबंधन करके भी चुनाव लड़ सकती है।



गौरतलब है कि झारखंड की जेएमएम (झारखंड मुक्ति मोर्चा) पहले ही साफ कर चुकी है कि पार्टी जेडीयू के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ेगी। इससे पहले जेडीयू के दिल्ली स्थित केन्द्रीय कार्यालय की एक बैठक में आरसीपी सिंह को बीजेपी से बातचीत के लिए अधिकृत किया गया था। जिसमें राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह, केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह और राष्ट्रीय प्रधान महासचिव केसी त्यागी मौजूद थे। बैठक में यूपी विधानसभा चुनावों पर चर्चा हुई। सूत्रों के अनुसार यूपी में करीब दो दर्जन सीटों पर जेडीयू चुनाव लड़ना चाहती है। हालांकि अभी स्क्रीनिंग की प्रक्रिया पार्टी ने शुरू नहीं की है।

इससे पहले बीते मंगलवार को जेडीयू ने राष्ट्रीय पदाधिकारियों की नई सूची भी जारी की थी। राष्ट्रीय अध्यक्ष समेत इसमें कुल 18 पदाधिकारियों को शामिल किया गया है। हालांकि, इसके पहले राष्ट्रीय पदाधिकारियों की सूची में केवल 16 लोग ही शामिल थे। इस तरह नई सूची में दो पदाधिकारियों की बढ़ोतरी हुई है।


सूची के मुताबिक पूर्व सांसद केसी त्यागी पार्टी के प्रधान महासचिव पद पर अब भी बने हुए हैं। विधान पार्षद उपेंद्र कुशवाह संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष के तौर पर काम करते रहेंगे। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने जिन तीन नये नामों को पदाधिकारियों की सूची में शामिल किया है, उनमें दो महासचिव मोहम्मद अली अशरफ फातमी और हर्षवर्धन हैं। साथ ही तीसरा नाम पार्टी के पूर्व प्रदेश प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद का है, जिनको पार्टी ने राष्ट्रीय सचिव बनाया है। सांसद आलोक कुमार सुमन को पार्टी ने कोषाध्यक्ष बनाया गया है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 30 Sep 2021, 4:19 PM