झारखंड: रामगढ़ जिले में भूख से एक और शख्स की मौत, मरने वाले के पास नहीं था राशन कार्ड 

झारखंड के रामगढ़ जिले में एक आदिवासी शख्स की कथित रूप से भूख से मौत हो गई। घटना की सूचना मिलने के बाद मृतक के घर पहुंचे स्थानीय प्रशासनिक अधिकारी ने भूख से हुई मौत की बात को नकार दिया, जबकि मृतक की पत्नी ने दावा किया कि मौत भूख से हुई है।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

दिल्ली में तीन सगी बहनों की मौत के बाद अब झारखंड में भी भूख से एक 40 वर्षीय व्यक्ति की मौत की खबर सामने आई है। रामगढ़ जिले के नवाडीह गांव में बिरहोर कबीले के एक व्‍यक्ति की कथित रूप से भूख से मौत हो गई। मृतक की पत्नी ने दावा किया कि भूख के चलते उसके पति की मौत हो गयी। महिला के अनुसार उसके पास राशन कार्ड नहीं था।

मृतक की पत्नी शांति देवी ने बताया कि उनके पति को पीलिया था और उनके परिवार के पास इतना पैसा नहीं था कि वे उनके लिये डॉक्टर द्वारा बताए गए खाने की चीजें और दवाई खरीद सकें। शांति ने बताया कि उनके परिवार के पास राशन कार्ड नहीं था जिससे वे राज्य सरकार की सार्वजनिक वितरण योजना के तहत सब्सिडी वाले अनाज प्राप्त कर पाते।

इस घटना की सूचना मिलने के बाद स्थानीय प्रशासनिक अधिकारी मृतक राजेंद्र के घर पहुंचे, लेकिन उन्होंने भूख से हुई मौत की बात को नकार दिया। पोस्टमॉर्टम भी नहीं कराया गया। वहीं बताया जा रहा है कि अधिकारी सिर्फ पारिवारिक लाभ के तहत 10 हजार रुपये देकर चले गए।

पूरी घटना को लेकर राज्य के खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय ने रामगढ़ डीसी से रिपोर्ट मांगी है। सरयू राय ने कहा है कि वे इस तर्क में नहीं पड़ना चाहते कि मौत भूख से हुई या बीमारी से। मंत्री ने ट्वीट कर कहा कि राजेंद्र बिरहोर की मौत का कारण भूख हो या बीमारी, इसके जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई होगी। चिकित्सा सुविधा ना मिलना, पोस्टमॉर्टम ना होना, राशन कार्ड ना बनना, ये प्रशासनिक लापरवाही है।

इससे पहले भी झारखंड में भूख से कई लोगों की मौत हो चुकी है। सिमडेमा में कुछ ही दिन पहले संतोषी नाम की एक बच्ची की मौत भी भूख की वजह से हो गई थी. आधार कार्ड न होने की वजह से संतोषी को अनाज नहीं मिल पाया था। इसके अलावा चतरा में भी भूख से महिला की मौत हो चुकी है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;