बीजेपी की गुमराह करने वाली राजनीति को झारखंड ने नकारा: कांग्रेस मुख्यमंत्रियों का बीजेपी पर निशाना

कांग्रेस शासित और कांग्रेस के गठबंधन वाले राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने कहा है कि झारखंड ने बीजेपी की गुमराह करने वाली राजनीति को नकार दिया है। इन मुख्यमंत्रियों ने झारखंड की हार के लिए बीजेपी पर निशाना साधा है

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमल नाथ ने झारखंड में कांग्रेस गठबंधन को मिली जीत पर खुशी जाहिर करते हुए बीजेपी पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि "बीजेपी की गुमराह और भ्रमित करने वाली राजनीति को झारखंड की जनता ने करारा जवाब दिया है।" कमल नाथ ने महागठबंधन को झारखंड में मिली सफलता पर ट्वीट कर कहा, "झारखंड चुनाव के परिणामों ने बीजेपी की मुद्दों से ध्यान भटकाने और गुमराह-भ्रमित करने की राजनीति को कड़ा जवाब दे दिया है। इस राजनीति का अब अंत हो चला है, यह बीजेपी की गलत नीतियों की हार है। आज देश का जागरूक नागरिक ज्वलंत मुद्दों पर बात करना चाहता है, उसका समाधान चाहता है।"

मुख्यमंत्री कमल नाथ ने आगे कहा, "उसके (जनता) सामने आज रोजी-रोटी का संकट है, उसे अन्य मुद्दों के नाम पर गुमराह नहीं किया जा सकता। इस परिणाम ने साबित कर दिया है कि देश में नफरत-वैमनस्य की विचारधारा के लिए आज भी कोई स्थान नहीं है, देश की जनता का भाईचारा-परस्पर प्रेम की विचारधारा में आज भी विश्वास कायम है।"


वहीं राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को कहा कि महाराष्ट्र और हरियाणा के बाद अब झारखंड ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह की गुमराह करने वाली राजनीति को नकार दिया है क्योंकि लोग उनकी विभाजनकारी राजनीति से तंग आ चुके हैं। नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) और नागरिकों के राष्ट्रीय रजिस्टर (एनआरसी) पर विरोध जताने के लिए कांग्रेस पार्टी सत्याग्रह कर रही है। इसी में भाग लेने के लिए राष्ट्रीय राजधानी पहुंचे राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने यह बात कही।

पार्टी मुख्यालय में पत्रकारों से गहलोत ने कहा, "महाराष्ट्र और हरियाणा चुनाव के दौरान पूरे देश में यह संदेश गया कि वे (मोदी व शाह) लोगों को राष्ट्रवाद, अनुच्छेद 370 के नाम पर गुमराह करते हैं। उनके अभियान का कोई एजेंडा नहीं है, जबकि राहुल गांधी आम नागरिकों के मुद्दों को उठाते हैं।" भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर निशाना साधते हुए राजस्थान के मुख्यमंत्री ने कहा कि चाहे वह महाराष्ट्र हो या हरियाणा, इन दोनों ही राज्यों ने उन्हें संदेश दिया कि उनका एजेंडा अब नहीं चलने वाला है।

इनके अलावा राजस्थान के डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने कहा है कि, “ केंद्र में बीजेपी सरकार बनने के बाद 2019 में झारखंड विधानसभा चुनाव तीसरा चुनाव है, जिसमें जनता ने बीजेपी की नाकामियों को जवाब दिया है और विभाजनकारी राजनीति को नकार दिया है। झारखंड की जनता का हार्दिक धन्यवाद कि उन्होंने विकास का मार्ग चुना है। ”


इसके अलावा महाराष्ट्र मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी झारखंड में जीत पर कांग्रेस गठबंधन को बधाई दी है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;