भोपाल: सिरफिरे आशिक का हाई वोल्टेज ड्रामा, 12 घंटे तक मॉडल को बंधक बनाकर रखा

भोपाल की इसी सोसायटी में दिन भर चला ड्रामा

भोपाल में एक सिरफिरे आशिक ने एक मॉ़डल को उसके घर में बंधक बना लिया। करीब 12 घंटे के हाई वोल्टेज ड्रामे के बाद पुलिस लड़की को छुड़ाने में कामयाब हो सकी।

एक मॉडल, एक आशिक, बहुंजिला इमारत में पांचवीं मंजिल का एक फ्लैट, पुलिस की गाड़ियां, क्रेन, वीडियो कॉल, फ्लैट में खिड़की से झांकती पुलिस और आसपास ढेर सारे लोगों की भीड़। यह किसी फिल्म में किसी एक्शन सीन की शूटिंग का दृश्य लग सकता है, लेकिन ये सब हकीकत में हुआ शुक्रवार को भोपाल में।

मामला शुरु हुआ सुबह करीब 7 बजे, जब रोहित सिंह नाम के एक शख्स ने एक फ्लैट में घुसकर वहां रह रही मॉडल को बंधक बना लिया। हालांकि कुछ लोग यह भी कह रहे हैं कि रोहित बीती रात 11 बजे से ही फ्लैट में था और उसने मॉडल को बंधक बना रखा था। बहरहाल सुबह 7 बजे पुलिस मौके पर पहुंच गई और शुरु हो गईं कोशिशें इस व्यक्ति को समझाने और मॉडल को छुड़ाने की।

दरअसल ये सनक का मामला है, जिसे लेकर पूरे दिन हाई वोल्टेज ड्रामा चलता रहा। हुआ यूं कि बीती रात रोहित इस मॉडल के घर आया और मॉडल से गलती हो गई कि उसने घर का दरवाजा खोल दिया। रोहित घर में घुसा और उसने लड़की को अपने साथ कमरे में बंद कर लिया। जैसे ही सुबह युवती को बंधक बनाने की खबर उसकी मां को लगी, तो उन्होंने पुलिस को बुला लिया।

पुलिस ने मौके पर पहुंचकर इस सिरफिरे के चंगुल से युवती को छुड़ाने की कोशिशें शुरू कर दी। पुलिस का दावा था कि रोहित के पास कट्टा भी और कैंची भी। वह धमकियां दे रहा था, जिसकी वजह से पुलिस कोई भी कदम उठाने में ठिठक रही थी, क्योंकि मामूली सी चूक से भी लड़की की जिंदगी खतरे में पड़ सकती थी।

पहले रोहित को आराम से समझाया गया। फिर पुलिस ने कमरे में घुसने की कोशिश, लेकिन सारे जतन बेकार गए। इसके बाद गेट काटने के लिए कटर बुलाया गया, उसमें भी नाकामी ही हाथ लगी। इस दौरान आला अफसर एसपी आदि मौके पर पहुंच चुके थे। किसी तरह रोहित से फिर संवाद शुरू हुआ। घर की बंद बालकनी से राहुल ने इशारे करना शुरू किए। इशारों को समझते हुए उसकी मांग के मुताबिक उसे दूध-पानी और कपड़े सहित कई चीज़ें पहुंचायी गयीं।

दिन भर यही नाटक चलता रहा। आख़िरकार शाम हो गयी। बात बनती ना देख आख़िरकार एसडीआरएफ की टीम बुलायी गयी। फ्लैट के चारों तरफ से स्थिति का मुआयना किया गया। फिर हाइड्रोलिक लिफ्ट में सवार होकर एसपी लोढ़ा बाहर से बालकनी के नज़दीक गए। वापस लौटकर उन्होंने कहा आरोपी रोहित लड़की के साथ शादी कराने की मांग कर रहा है. शर्त मानने पर वो बाहर निकलने के लिए तैयार है।

पुलिस ने शायद रोहित को ये दिलासा दिया कि उसकी मांग मान ली जाएगी। आखिरकार 12 घंटे बाद रोहित लड़की को लेकर बाहर निकला। उसने शाम सवा सात बजे के आसपास कमरे का गेट खोला और युवती को लेकर बाहर आया. पुलिस ने लड़की को अस्पताल भेज दिया है।

यह सारा हाई वोल्टेज ड्रामा भोपाल की एक पॉश सोसायटी में घटित हुआ। इस पूरे ड्रामे के दौरान रोहित ने कई बार लड़की को गोली मारने और अपनी जान देने की धमकी भी दी थी। लड़की के पिता बीएसएनएल के पूर्व एजीएम हैं।

वहीं रोहति अलीगढ़ का रहने वाला है। वह मुंबई में मॉडलिंग करता था और यहीं उसकी युवती से मुलाकात हुई। वह लंबे वक्त से शादी के लिए युवती पर दबाव बना रहा था।

इस ड्रामें के दौरान रोहित ने वीडियो कालिंग के जरिए पुलिस से बात की। वहीं उसने एक वीडियो भी शेयर किया जिसमें उसने उसे और लड़की को लगी चोटें दिखाईं। उसने दावा किया कि यह सब पुलिस वालों की मारपीट से हुआ है।

जानकारी मिली है कि फरवरी में लड़की ने रोहित के खिलाफ छेड़छाड़ का मामला दर्ज कराया था। इसके बाद रोहित को गिरफ्तार किया गया था, लेकिन वह जमानत पर छुट गया था।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

सबसे लोकप्रिय

अखबार सब्सक्राइब करें