जेएनयू हमले पर पुलिस दावों के बाद JNUSU ने बुलाई प्रेस कांफ्रेंस, पेश कर सकता है कई सबूत

जेएनयू छात्रसंघ ने आज शाम 4.30 बजे साबरमती लॉन में प्रेस कांफ्रेंस बुलाई है। इस प्रेस कांफ्रेंस में JNUSU छात्रों पर कैंपस में हुए हमले को लेकर सबूत पेश कर सकता है। JNUSU की प्रेस कांफ्रेंस से पहले विश्वविद्यालय के छात्रों से कुलपति ने मुलाकात की है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

जेएनयू हमले पर पुलिस दावों के बाद जेएनयू छात्र संघ ने प्रेस कांफ्रेंस बुलाई है। ऐसे माना जा रहा है कि इस दौरान कई सबूत पेश कर सकते हैं। इससे पहले शुक्रवार को दिल्ली पुलिस ने प्रेस कांफ्रेंस कर कहा था कि पुलिस ने बताया है कि पूरे मामले को लेकर गलत जानकारी फैलाई जा रही है। इस दौरान दिल्ली पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज से ली गईं तस्‍वीरें जारी की। उनके संदिग्धों के नाम छात्र संघ अध्‍यक्ष आईशी घोष भी शामिल हैं।

इसके बाद जेएनयूएसयू प्रेजिडेंट आइशी घोष ने जेएनयू हमले में संदिग्ध के रूप में उनकी तस्वीर जारी करने पर जोरदार हमला बोला है। उन्होंने पुलिस पर पक्षपात का आरोप लगाते हुए कहा कि मुझपर हमले को लेकर एफआईआर दर्ज नहीं की गई और मुद्दे को घुमाने के लिए मुझे ही संदिग्ध बता दिया गया। आइशी ने कहा कि उन्हें देश की कानून-व्यवस्था पर पूरा भरोसा है और उन्हें न्याय मिलेगा।

उन्होंने आगे कहा, “कुछ विडियो में मैं दिखी तो मुझे सस्पेक्ट बना दिया और मुझपर जानलेवा हमला हुआ तो उसपर विचार नहीं किया जा रहा। क्या परिसर के अंदर घूमना गुनाह है?” उन्होंने कहा, “किसी के कहने से मैं सस्पेक्ट नहीं हो जाती। क्या मेरे हाथ में रॉड था और क्या मैंने मास्क लगा रखा था?' उन्होंने कहा, 'दिल्ली पुलिस अपनी जांच करे। मेरे पास भी सबूत है कि मुझपर किस तरह हमला किया गया।”

दूसरी ओर आज जेएनयूएसयू की प्रेस कांफ्रेंस से पहले विश्वविद्यालय के छात्रों से कुलपति ने मुलाकात की है। ऐसा पहली बार जेएनयू में बवाल के बीच पहली बार छात्रों से कुलपति से मुलाकात हुई है।

Published: 11 Jan 2020, 2:59 PM
लोकप्रिय
next