बिहार में जानलेवा कोरोना से जुड़े आंकड़ों की बाजीगरी! नीतीश सरकार ने माना अब तक 5424 नहीं, 9375 लोगों की गई है जान

कोरोना की दूसरी लहर के दौरान बिहार में मौतों के आंकड़ों पर लगातार सवाल उठ रहे हैं। पटना हाई कोर्ट ने कई बार नीतीश सरकार को आंकड़ों में भारी अंतर को लेकर लताड़ भी लगा चुकी है। लेकिन अब तो खुद नीतीश सरकार ने मान लिया है कि कोरोना से हुई मौतों के आंकड़ों में भारी गड़बड़ी हुई है।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

बिहार में जानलेवा कोरोना वायरस से जुड़े आंकड़ों की बाजीगरी सामने आई है। मंगलवार को बिहार सरकार ने कहा था कि राज्य में कोरोना से अब तक 5,458 लोगों की मौत हुई है। लेकिन स्वास्थ्य विभाग ने अब मरने वालों की संशोधित आंकड़ा जारी किया है। स्वास्थ्य विभाग ने संशोधन करते हुए नया आंकड़ा जारी किया, जिसके मुताबिक बिहार में कोरोना वायरस से अब तक 9,429 लोगों की मौत हुई है। बिहार में कोरोना से मौत का आंकड़ा अचानक 73 फीसदी तक बढ़ गया है।

बता दें कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान बिहार में मौतों के आंकड़ों पर लगातार सवाल उठ रहे हैं। पटना हाई कोर्ट ने कई बार नीतीश सरकार को आंकड़ों में भारी अंतर को लेकर लताड़ भी लगा चुकी है। लेकिन अब तो खुद सरकार ने मान लिया है कि कोरोना से हुई मौतों के आंकड़ों में भारी गड़बड़ी हुई है। बुधवार को स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने प्रेस कांफ्रेंस करते हुए ये जानकारी दी कि अब तक मौतों का जो आंकड़ा 5424 बताया गया था, वो गलत है जबकि असली आंकड़ा 9375 (7 जून तक) है।

प्रत्यय अमृत ने माना है कि इस संवेदनशील मामले में काफी असंवेदनशीलता की गई है। उन्होंने ऐसी लापरवाही बरतने वालों पर कार्रवाई करने की बात तो कही है।

इन आंकड़ों को लेकर स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि कई लोगों की मौत घर में आईसोलेशन के दौरान हो गई। कुछ की मौत घर से अस्पताल जाते वक्त हो गई और कई लोगों की कोरोना से ठीक होने के बाद भी हुई है। जांच होने के बाद ऐसे कई मामलों को जोड़ा गया है। हालांकि विभाग ने ये साफ नहीं किया कि ये अतिरिक्त मौतें कब हुईं।

सत्यापन के बाद पटना में सबसे अधिक 1070 अतिरिक्त मौतें जोड़ी गई हैं। इसके बाद बेगूसराय में 316, मुजफ्फरपुर में 314 और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पैतृक नालंदा में 222 अतिरिक्त मौतें जोड़ी गई हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 10 Jun 2021, 10:44 AM