MP में सियासी हलचल के बीच कमलनाथ का BJP सरकार पर हमला, कहा- लोकतांत्रिक और संवैधानिक मूल्यों की हो रही हत्या

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बीजेपी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि बीजेपी के द्वारा लोकतांत्रिक मूल्यों की हत्या की जा रही है। पूरा देश आज देख रहा है कि एक चुनी हुई सरकार को अस्थिर करने के लिये किस प्रकार से बीजेपी द्वारा लोकतांत्रिक मूल्यों की हत्या की जा रही है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

मध्य प्रदेश में सियासी हलचल के बीच सीएम कमलनाथ ने बीजेपी सरकार पर हमला बोला है। बुधवार को कर्नाटक के बेंगलुरु में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह, डीके शिवकुमार बागी विधायकों से मिलने के लिए पहुंचे थे। जिसके बाद उन्हें हिरासत में लिया गया। इसके बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि बीजेपी के द्वारा लोकतांत्रिक मूल्यों की हत्या की जा रही है।

उन्होंने आगे कहा, “बैंगलोर में बीजेपी द्वारा बंधक बनाये गये कांग्रेस विधायकों से मिलने गये कांग्रेस के राज्यसभा उम्मीदवार दिग्विजय सिंह, कांग्रेस के मंत्रियों, विधायकों को मिलने से रोकना, उनसे अभद्र व्यवहार करना, उन्हें बलपूर्वक हिरासत में लेना पूरी तरह से तानाशाही और हिटलर शाही है।”


उन्होंने आगे कहा, “पूरा देश आज देख रहा है कि एक चुनी हुई सरकार को अस्थिर करने के लिये किस प्रकार से बीजेपी द्वारा लोकतांत्रिक मूल्यों की हत्या की जा रही है। क्यों विधायकों से मिलने नहीं दिया जा रहा है, आखिर किस बात का डर बीजेपी को है? बीजेपी द्वारा एक गंदा खेल प्रदेश में खेला जा रहा है।”

उन्होंने आगे कहा, “लोकतांत्रिक मूल्यों, संवैधानिक मूल्यों और अधिकारो का दमन किया जा रहा है। हमारे हिरासत में लिये गये नेताओ को शीघ्र रिहा किया जाए और बंधक विधायकों से मिलने की इजाज़त दी जाए।”

उन्होंने आगे कहा, “ना अभी बीजेपी के पास बहुमत है, ना शिवराज सिंह को बीजेपी विधायक दल ने अपना नेता चुना है, ना बीजेपी की सरकार बनी है, ना कभी बनेगी लेकिन शिवराज सिंह चौहान की मुख्यमंत्री बनने के लिये हड़बड़ाहट, बैचेनी पूरा प्रदेश देख रहा है।”


उन्होंने आगे कहा, “किस प्रकार सत्ता के लिये वे बैचेन हो रहे है। उन्हें नींद नहीं आ रही है, दिन में भी मुख्यमंत्री पद के सपने देख रहे है। अधिकारियों को धमका रहे है। उनकी स्थिति पर मुझे तरस आ रहा है।”

गौरतलब है कि बुधवार सुबह कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह बेंगलुरु में रुके हुए 16 कांग्रेसी विधायकों से मिलने पहुंचे थे। लेकिन जैसे ही वो रिजॉर्ट पहुंचे तो उन्हें हिरासत में ले लिया गया।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia