MP में वैक्सीनेशन की रफ्तार धीमी होने पर कमलनाथ ने सरकार पर उठाए सवाल, लॉकडाउन खत्म करने को बताया चुनौती

कमल नाथ ने कहा, "शिवराज जी, मध्य प्रदेश में 15.25 प्रतिशत आबादी को वैक्सीन का एक डोज और 2.53 प्रतिशत आबादी को दोनों डोज लगे हैं। इतने कम टीकाकरण के बीच लॉकडाउन का खत्म होना, बहुत बड़ी चुनौती है। इस चुनौती से निपटने का क्या प्लान है? बताइए..।"

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

कोरोना संक्रमण केा रोकने का बड़ा हथियार वैक्सीनेशन को माना गया है, मगर राज्य में वैक्सीनेशन की रफ्तार धीमी होने पर पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने सवाल उठाते हुए लॉकडाउन को खत्म करने को बड़ी चुनौती माना है। कमल नाथ ने कहा, "शिवराज जी, मध्य प्रदेश में 15.25 प्रतिशत आबादी को वैक्सीन का एक डोज और 2.53 प्रतिशत आबादी को दोनों डोज लगे हैं। इतने कम टीकाकरण के बीच लॉकडाउन का खत्म होना, बहुत बड़ी चुनौती है। इस चुनौती से निपटने का क्या प्लान है? बताइए..।"

कमल नाथ ने देश में गभीर बीमारियों के लिए बने टीकों का जिक्र करते हुए कहा, "आजादी के बाद से ही कांग्रेस सरकार ने देश को बीसीजी, चेचक के अलावा पोलियो, रेबीज, डिप्थीरिया, टिटनेस जैसी गंभीर बीमारियों के टीके के निर्माण में सक्षम बना दिया था। 1978 में भारत के राष्ट्रीय टीकाकरण अभियान से दुनियाभर ने सीखा। अपनी नाकामी का ठीकरा दूसरों पर फोड़ने की बजाय इस इतिहास और सच्चाई को पढ़ लेते तो शायद आज देश मे जीवन को लेकर ऐसा संकट नहीं आता और ना वैक्सीन को लेकर हमारे देश की यह स्थिति होती।"

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia