कमलेश तिवारी हत्याकांड: फिर हुआ चौंकाने वाला बड़ा खुलासा, रशीद नहीं बल्कि ये है मुख्य साजिशकर्ता!

कमलेश तिवारी हत्याकांड में जांच एजेंसियां गिरफ्तार किए गए आरोपियों से लगातार पूछताछ कर रही है। इस पूछताछ में आसिम की तरफ से जो जानकारी मिली है उससे शक की सूई रशीद से हटकर आसिम पर घूमने लगी है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कमलेश तिवारी हत्याकांड मामले में हर रोज नया खुलासा हो रहा है। अब नया खुलासा यह हुआ है कि कमलेश तिवारी हत्याकांड में साजिश करने वाला सूरत से पकड़ा गया रशीद नहीं बल्कि आसिम है जिसे नागपुर से हिरासत में लिया गया था। यह खुलासा जांच एजेंसियों की पूछताछ में हुई है।

जांच एजेंसियां गिरफ्तार और हिरासत में लिए गए आरोपियों से लगातार पूछताछ कर रही है। इस पूछताछ में आसिम की तरफ से जो जानकारी मिली है उससे शक की सूई रशीद से हटकर आसिम पर घूमने लगी है। पूछताछ के दौरान आसिम ने कुछ नामों का खुलासा किया है ये सभी लोग देश के अलग-अलग राज्यों के हैं जिनका संपर्क आसिम से है।

जांच एजेंसियों ने आसिम से जब पोस्ट किए गए वीडियो के बारे में पूछताछ की तो आसिम ठीक से जवाब नहीं दे पाया। अब जांच एजेंसियां उन सभी सोशल मीडिया अकाउंट की जांच कर रही है कि जिसमें भड़काऊ वीडियो और पोस्ट डाले गए हैं।

इस केस में जांच एजेंसियों की नजर उस शख्स पर भी है जो आसिम का करीबी है। वह आसिम के सभी भाषणों पर लाइक, कमेंट और प्रचार करने का काम करता था। जांच एजेंसी ये जानने में जुटी हुई है कि कमलेश तिवारी की हत्या में किसी दूसरे व्यक्ति का योगदान तो नहीं है।

आसिम ने कमलेश तिवारी हत्याकांड मामले में पूछताछ के बीच ये भी बताया कि लोगों को आतंक के खिलाफ जागरूक करने का काम करता है। इसके लिए उसने सुन्नी यूथ विंग आतंकवाद विरोधी संगठन बनाया हुआ है।

इस मामले में सूत्रों का का कहना है कि, आसिम चूंकि नागपुर में एक राजनीतिक दल का नगर महासचिव है तो इसलिए उसे सभी जानते हैं। उसने धर्म का इस्तेमाल करके लोगों को भड़काने का काम किया है। आसिम ने सिर्फ यू-ट्यूब ही नहीं बल्कि, भड़ाकऊ भाषणों से अपने समर्थकों की संख्या बढ़ाई है।

इससे पहले रशीद अहमद पठान ने भी कई चौंकाने वाला खुलासे किए थे। रशीद के मुताबिक, कमलेश तिवारी की हत्या के बाद शेख अशफाक हुसैन और मोइनुद्दीन पठान को यकीन था कि वह बचेंगे नहीं। पुलिस हिरासत में पूछताछ के दौरान रशिद ने बताया था कि दोनों कमलेश को मारकर खुद मरने के लिए तैयार थे। उन्होंने कहा था कि भीड़ के बीच में कमलेश की हत्या करेंगे तो लोग उन्हें पकड़कर पीट-पीटकर मार डालेंगे या फिर पुलिस मार डालेगी। उन्होंने राशिद और पत्नी से कहा कि मौत के बाद शव सूरत मंगाकर सुपुर्द-ए-खाक करवा देना।

लोकप्रिय