राहुल गांधी की मौजूदगी में कांग्रेस में शामिल हुए कन्हैया कुमार, जिग्नेश मेवाणी भी मोदी सरकार के खिलाफ आए साथ

कन्हैया कुमार ने कहा कि मैं कांग्रेस में शामिल हो रहा हूं क्योंकि यह सिर्फ एक पार्टी नहीं है, बल्कि यह एक विचार है। यह देश की सबसे पुरानी और सबसे बड़ी लोकतांत्रिक पार्टी है। सिर्फ मैं ही नहीं कई लोग सोचते हैं कि देश कांग्रेस के बिना नहीं बच सकता है।

फोटोः विपिन
फोटोः विपिन
user

नवजीवन डेस्क

जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष और वामपंथी नेता कन्हैया कुमार आज शाम कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अपनी मौजूदगी में पार्टी मुख्यालय में उन्हें पार्टी की सदस्यता दिलाई। इस मौके पर गुजरात के दलित नेता और निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी ने भी कांग्रेस के साथ का ऐलान किया। हालांकि, तकनीकी कारणों से वह कांग्रेस की सदस्यता नहीं ले सके। मौके पर कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, गुजरात के कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल और बिहार कांग्रेस अध्यक्ष मदन मोहन झा भी मौजूद रहे।

दोनों युवा नेताओं के कांग्रेस में शामिल होने से पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी शहीद भगत सिंह पार्क में पहुंचे और वहां शहीद भगत सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। राहुल गांधी के साथ इस दौरान कन्हैया कुमार और जिग्नेश मेवाणी भी वहां मौजूद रहे। इस कार्यक्रम के बाद कन्हैया कुमार और जिग्नेश मेवाणी कांग्रेस मुख्यालय के लिए रवाना हो गए, जहां राहुल गांधी ने कन्हैया को पार्टी में शामिल कराया। इसके बाद राहुल गांधी ने कहा कि झूठ के साम्राज्य में सच से ही क्रांति आती है। नए-पुराने सभी साथियों को मिलकर इस सत्याग्रह में भाग लेना होगा।

कांग्रेस में शामिल होने के बाद कन्हैया कुमार ने कहा कि मैं कांग्रेस में शामिल हो रहा हूं क्योंकि यह सिर्फ एक पार्टी नहीं है, बल्कि यह एक विचार है। यह देश की सबसे पुरानी और सबसे बड़ी लोकतांत्रिक पार्टी है और मैं 'लोकतांत्रिक' पर जोर दे रहा हूं। सिर्फ मैं ही नहीं कई लोग सोचते हैं कि देश कांग्रेस के बिना नहीं बच सकता है।


वहीं कांग्रेस महासचिव (संगठन) केसी वेणुगोपाल ने कहा कि हम इस देश पर शासन करने वाली फासीवादी ताकतों को हराने के लिए इन युवा नेताओं कन्हैया और मेवाणी के साथ काम करने के लिए उत्सुक हैं। कन्हैया कुमार इस देश में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की लड़ाई के प्रतीक हैं। उन्होंने एक छात्र नेता के रूप में कट्टरवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ी। इस तरह के गतिशील व्यक्तित्व के शामिल होने से कांग्रेस का पूरा कैडर जोश से भर जाएगा।

कन्हैया कुमार के लंबे वक्त से कांग्रेस में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रही थीं, लेकिन आज जाकर आधिकारिक तौर पर ये ज्वाइनिंग हो गई। कन्हैया कुमार और जिग्नेश मेवाणी के स्वागत के लिए आज सुबह से दिल्ली में कांग्रेस पार्टी के मुख्यालय के बाहर कई पोस्टर भी लगाए गए थे, जिनमें राहुल गांधी के साथ इन दोनों की भी तस्वीर है।

मूल रूप से बिहार से ताल्लुक रखने वाले कन्हैया जेएनयू में 2015 में कथित तौर पर देशविरोधी नारेबाजी के मामले में गिरफ्तारी के बाद सुर्खियों में आए थे। वह पिछले लोकसभा चुनाव में बिहार की बेगूसराय लोकसभा सीट से बीजेपी के गिरिराज सिंह के खिलाफ सीपीआई के प्रत्याशी के तौर पर चुनाव भी लड़ चुके हैं। हालांकि उन्हें हार का सामना करना पड़ा था।

दूसरी तरफ, दलित समुदाय से ताल्लुक रखने वाले जिग्नेश मेवाणी गुजरात के वडगाम विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय विधायक हैं। मेवाणी ने 2017 के गुजरात चुनाव में कांग्रेस के समर्थन से निर्दलीय चुनाव लड़कर यह सीट जीती थी। मेवाणी गुजरात में बड़े और लोकप्रिय दलित नेता माने जाते हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia