कानपुर शूटआउट: गैंगस्टर विकास दुबे का करीबी अमर दुबे मुठभेड़ में मारा गया, 8 पुलिस कर्मियों की हत्या में था शामिल

एडीजी एलओ प्रशांत कुमार ने मुठभेड़ में अमर दुबे के मारे जाने की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि मुठभेड़ आज तड़के हुई। हमीरपुर में अमर दुबे के होने की सूचना मिली थी। सूचना पर एसटीएफ की टीम मौके पर पहुंची थी।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कानपुर शूटआउट के मास्टरमांइड विकास दुबे का यूपी पुलिस अब तक कोई सुराग नहीं लगा पाई है। इस बीच यूपी एसटीएफ ने विकास दुबे के करीबी अमर दुबे को यूपी के हमीरपुर में एक एनकाउंटर में मार गिराया है। बताया जा रहा है कि अमर दुबे, विकास दुबे का राइट हैंड था। कानपुर में 8 पुलिस कर्मियों की हत्या में अमर दुबे भी शामिल था। पुलिस ने अमर दुबे पर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित कर रखा था।

गैंगस्टर विकास दुबे के करीब अमर दुबे के मुठभेड़ में मारे जाने के बाद यूपी के हमीरपुर के एसपी श्लोक कुमार ने बताया, “अमर दुबे के यहां होने की सूचना मिली थी। घेराबंदी में उसने पुलिस पर फायरिंग की, जिसमें एसएचओ मौदहा, एक एसटीएफ कांस्टेबल को गोली लग गई। जवाबी कार्रवाई में अमर दुबे घायल हुआ और उसे अस्पताल भेजा गया, जहां उसे डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। इसके पास से एक ऑटोमेटिक हथियार और एक बैग मिला है।”

वहीं, एडीजी एलओ प्रशांत कुमार ने बताया कि मुठभेड़ आज तड़के हुई। हमीरपुर में अमर दुबे के होने की सूचना मिली थी। सूचना पर एसटीएफ की टीम मौके पर पहुंची। पुलिस के मुताबिक, अमर को सरेंडर करने के लिए कहा गया, लेकिन उसने एसटीएफ की टीम पर फायरिंग शुरू कर दी। इस दौरान जवाबी कार्रवाई में अमर दुबे मारा गया। एसटीएफ और यूपी पुलिस की टीमें विकास दुबे और उसके साथियों की तलाश में लगातार दबिश दे रही हैं।

कानपुर शूटआउट को 6 दिन बीत चुके हैं, लेकिन यूपी पुलिस अब तक विकास दुबे को पकड़ने में नाकाम रही है। बताया जा रहा है कि इस बीच गैंगस्टर विकास दुबे अपने साथियों के साथ मंगलवार को फरीदाबाद के एक होटल में पहुंचा था। खबरों के मुताबिक, वह किसी और के जरिए होटल में पेमेंट करवाना चाहता था, लेकिन होटल के स्टाफ ने कहा कि पेमेंट करने वाले की आईडी देनी होगी। विकास लंगड़ा कर चल रहा था, यह देखकर लोगों को शक हुआ तो उन्होंने पुलिस को इस बात की सूचना दी। जब तक पुलिस होटल पहुंची विकास दुबे फरार हो गया। हालांकि इस दौरान पुलिस ने विकास के कुछ साथियों को पकड़ लिया। इसके बाद आस-पास के इलाकों की पुलिस को भी अलर्ट कर दिया गया। खबरों के मुताबिक, विकास के पास निजी गाड़ी नहीं है, वह टैक्सी में मूवमेंट कर रहा है।

गौरतलब है कि कनपुर देहात के विकरू गांव में 2 जुलाई को विकास दुबे और उसके साथियों ने पुलिस की टीम पर फायरिंग थी। इस हमले में एक डीएसपी समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। पुलिस की टीम विकास दुबे के यहां पकड़े गई थी।

Published: 8 Jul 2020, 8:58 AM
लोकप्रिय
next