कानपुर शूटआउट: गैंगस्टर विकास दुबे के दो और साथी पुलिस मुठभेड़ में मारे गए

प्रभात मिश्रा को पुलिस ने फरीदाबाद के होटल से गिरफ्तार किया था। प्रभात को कोर्ट में पेश किया गया था। ट्रांजिट रिमांड मिलने के बाद यूपी पुलिस अपने साथ जा रही थी। इसी दौरान प्रभात पुलिस कस्टडी से भागने लगा, पुलिस ने मुठभेड़ में प्रभात को मार गिराया।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कानपुर शूटआउट का आज 7वां दिन है। इन 7 दिनों में यूपी पुलिस और एसटीएफ शूटआउट के मास्टरमाइंड विकास दुबे को गिरफ्तार करने में नाकाम रही है। पुलिस डाल-डाल चल रही है तो विकास पात-पात भागे जा रहा है। इस बीच विकास के साथियों का पुलिस ढूंढ-ढूंकर एनकाउंटर कर रही है। पुलिस ने मुठभेड़ में गैंगस्टर विकास के दो और साथियोंको मार गिराया है। बताया जा रहा है कि एनकाउंटर में मारे गए विकास दुबे के दोनों साथियों के नाम प्रभात मिश्रा और बउअन दुबे है।

प्रभात मिश्रा को पुलिस ने फरीदाबाद के एक होटल से गिरफ्तार किया था। गिरफ्तारी के बाद प्रभात को कोर्ट में पेश किया गया था, जहां से कोर्ट ने उसे ट्रांजिट रिमांड दी थी। बताया जा रहा है कि यूपी पुलिस फरीदाबाद से प्रभात को लेकर अपने साथ जा रही थी। इसी दौरान प्रभात पुलिस कस्टडी से भागने लगा, पुलिस ने मुठभेड़ में प्रभात को मार गिराया।

प्रभात के संबंध में यूपी के एडीजी प्रशांत कुमार का बयान आया है। उन्होंने बताया कि जिन तीन लोगों को कल गिरफ्तार किया गया था, उनमें से एक, प्रभात मिश्रा की मौत हो गई है। उन्होंने बताया कि प्रभात मिश्रा ने हिरासत से भागने की कोशिश की, जिसके बाद पुलिस ने उसे गोली मार दी। पुलिस के मुताबिक, प्रभात को अस्पताल ले जाया गया, जहा उसे मृत घोषित कर दिया गया। खबरों के मुताबिक, विकास दुबे के दूसरे साथी बउअन दुबे को पुलिस ने इटावा में हुई मुठभेड़ में मार गिराया है।

गौरतलब है कि कनपुर देहात के विकरू गांव में 2 जुलाई को विकास दुबे और उसके साथियों ने पुलिस टीम पर फायरिंग थी। इस हमले में एक डीएसपी समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। पुलिस टीम विकास दुबे के यहां पकड़े गई थी। 2 जुलई के बाद से विकास फरार है। यूपी पुलिस, एसटीएफ यहां तक कि खबरों के मुताबिक, आईबी की भी मदद ली जा रही है, बाजवजूद इसके विकास दुबे अभी भी पकड़ा नहीं जा सका है।

Published: 9 Jul 2020, 9:08 AM
लोकप्रिय
next