मुठभेड़ में मारा गया कानपुर शूटआउट का मास्टरमाइंड विकास दुबे, STF की गाड़ी पलटने के बाद एनकाउंटर

यूपी पुलिस ने विकास दुबे की मौत की पुष्टि कर दी है। कानपुर पश्चि के एसपी ने बताया कि विकास दुबे को जब लाया जा रहा था तब गाड़ी पलट गई, इसमें जो पुलिसकर्मी घायल हुए उसने उनका पिस्टल छीनने की कोशिश की।आत्मरक्षा में पुलिस ने फायरिंग की।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

8 पुलिस कर्मियों की हत्या के मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे को एसटीएफ और यूपी पुलिस की टीम ने एनकाउंटर में मार गिराया है। बताया जा रहा है कि एसटीएफ की गाड़ी पलटने के बाद विकास दुबे ने पुलिस का हथियार छीनकर भाकने की कोशिश की। खबरों के मुताबिक इसी दौरान पुलिस की गोली का विकास दुबे शिकार हो गया।

यूपी पुलिस ने विकास दुबे की मौत की पुष्टि कर दी है। कानपुर पश्चिम के एसपी ने मीडिया से बात करते हुए बताया “विकास दुबे को जब लाया जा रहा था तब गाड़ी पलट गई, इसमें जो पुलिसकर्मी घायल हुए उसने उनका पिस्टल छीनने की कोशिश की। पुलिस ने उसे चारों तरफ से घेर कर आत्मसमर्पण कराने की कोशिश की, जिसमें उसने जवाबी फायरिंग की। आत्मरक्षा में पुलिस ने फायरिंग की। इस दौरान गोली लगने से वह घायल हो गया। विकास को अस्पताल ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।”

एसटीएफ की टीम विकास दुबे को मध्य प्रदेश से कानपुर ला रही थी। खबरों के मुताबिक, इसी दौरान रास्ते में एसटीएफ के काफिले की गाड़ी दुर्घटनाग्रस्त हो गई। बताया जा रहा है कि जो गाड़ी दुर्घटनाग्रस्त हुई है, उसमें विकास दुबे भी सवार था। हादसा कानपुर टोल प्लाजा से 25 किलोमीटर दूर हुआ है।

गौरतलब है कि विकास दुबे को गुरुवार को मध्य प्रदेश के उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया गया था। महाकाल मंदिर से विकास दुबे की नाटकीय ढंग से गिरफ्तारी हुई थी। मध्य सरकार और पुलिस ने बताया था कि गैंगस्टर जैसे ही महाकाम मंदिर में दर्शन करने पहुंचा, वहां एक सुरक्षा गार्ड ने उसे पहचान लिया था। इसके बाद सुरक्षा गार्ड ने स्थानीय पुलिस को जानकारी दी थी। मौके पर पहुंची पुलिस ने विकास को गिरफ्तार कर लिया था। गिरफ्तारी के बाद विकास को कानपुर लाया जा रहा था।

Published: 10 Jul 2020, 8:41 AM
लोकप्रिय
next