कर्नाटक: लॉकडाउन में धार्मिक मेले में कैसे पहुंची भीड़? सामाजिक दूरी की उड़ी धज्जियां, येदियुरप्प सरकार से सवाल 

कोरोना महामारी के बीच देश में तीसरा लॉकडाउन जारी है। लेकिन कर्नाटक के रामनगर में एक धार्मिक मेले का आयोजन हुआ। जहां सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ा दी गईं। मामला तूल पकड़ने के बाद प्रशासन ने एक अधिकारी को सस्पेंड कर दिया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

देश भर में कोरोना वायरस का कहर जारी है। कोरोना महामारी के चलते सभी तरह के मॉल, सिनेमा हॉल और धार्मिक स्थल बंद हैं, जिससे सोशल डिस्टेंसिंग पालन हो। लेकिन कर्नाटक के रामनगर के कोलागोंडनहल्ली गांव में गुरुवार को एक धार्मिक मेला आयोजित किया गया। जहां मेले में बड़ी संख्या में लोग जमा हुए और सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ गई।

खबरों के मुताबिक, धार्मिक आयोजन में हिस्सा लेने वाले सभी लोग पंचायत विकास अधिकारी से अनुमति को लेकर कार्यक्रम में शामिल हुए थे। हालांकि इस दौरान इतने लोग इकट्ठा हो गए कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो सका। परमीशन देने वाले अधिकारी को सस्पेंड कर दिया गया है।

कर्नाटक में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ने के बाद कर्नाटक के डिप्टी सीएम डॉ सीएन अश्वथ नारायण ने कहा कि त्योहार के आयोजन के लिए जिम्मेदार व्यक्ति के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। ऐसा नहीं होना चाहिए था।

बता दें कि धार्मिक आयोजन के चलते सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाने की यह पहली घटना नहीं है। इससे पहले मध्य प्रदेश के सागर में जैन संत के स्वागत के लिए लोगों की ऐसी भीड़ उमड़ी थी।

गौरतलब है कि पिछले 24 घंटे में कोरोना के 3967 नए केस सामने आए हैं और 100 लोगों की मौत हो गई है। देश में कुल कोरोना मरीजों की संख्या 81,970 हो गई है। अब तक 2649 लोगों की मौत हो चुकी है। देश में 51,404 कोरोना के सक्रिय मामले हैं और 27,920 लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है। वहीं कर्नाटक की बात करे तो कर्नाटक में कोरोना के 987 सामने आ चुके हैं। इसमें से 35 लोगों की मौत हो चुकी है। 460 ठीक हो चुके हैं।

इसे भी पढ़ें: राहत पैकेज: MSME को लेकर गडकरी और निर्मला के बयान पर चिदंबरम का हमला, पूछा- ऋणदाता कौन हैं और उधारकर्ता कौन?

…‘खाना तो मिल जाएगा साहब, एक पुरानी चप्पल दे दो’, प्रवासी मजदूर की भावुक अपील से छलक जाएंगे आपके आंसू

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय
next