कर्नाटक के लिंगायत विधायक कांग्रेस में शामिल होने को तैयार, शिवकुमार का येदियुरप्पा सरकार पर संकट के बीच दावा

कलबुर्गी में शनिवार को शिवकुमार और क्षेत्र के वरिष्ठ कांग्रेस नेता ईश्वर खंड्रे और एम.बी. पाटिल ने कहा कि इस क्षेत्र के अधिकांश लिंगायत नेता बीजेपी के हैं और उन्होंने अप्रत्यक्ष रूप से संकेत दिया कि बीजेपी के विधायक कांग्रेस में शामिल होने को तैयार हैं।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कर्नाटक की बीजेपी सरकार के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा की कुर्सी पर जारी संकट के बीच प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डी.के. शिवकुमार ने दावा किया है कि लिंगायत समुदाय के कई विधायक कांग्रेस में शामिल होने के लिए तैयार हैं। शिवकुमार के इस दावे के बाद राज्य की राजनीति में हलचल तेज हो गई है।

कलबुर्गी में शनिवार को पत्रकारों से बात करते हुए शिवकुमार और उनके साथ मौजूद क्षेत्र के वरिष्ठ कांग्रेस नेता ईश्वर खंड्रे और एम.बी. पाटिल ने कहा कि इस क्षेत्र के अधिकांश लिंगायत नेता बीजेपी के हैं और उन्होंने अप्रत्यक्ष रूप से संकेत दिया कि बीजेपी के ये विधायक उनकी पार्टी में शामिल होने के लिए तैयार हैं।


डी के शिवकुमार ने आगे कहा कि कर्नाटक में बीजेपी को लगता है कि लिंगायत समुदाय पर उसकी पूरी पकड़ है, लेकिन, कांग्रेस पार्टी के पास समुदाय के बड़े नेता हैं जो कांग्रेस पार्टी के प्रति समुदाय का विश्वास जीत सकते हैं। साथ ही शिवकुमार ने बीजेपी सरकार में जारी संकट पर कहा कि बीजेपी सरकार पिछले एक साल से अस्थिर है और इसका असर प्रशासन पर पड़ रहा है।

बता दें कि कर्नाटक की बीजेपी सरकार के मुखिया बीएस येदियुरप्पा की कुर्सी खतरे में है। भले कर्नाटक के मुख्यमंत्री येदियुरप्पा भले दावा कर रहे हों कि सब कुछ ठीक है, लेकिन चर्चा है कि उनके 'जाने' की पटकथा बीजेपी में लिखी जा चुकी है। सूत्रों के अनुसार, बीजेपी आलाकमान ने येदियुरप्पा को एक स्पष्ट संदेश में पद छोड़ने को कह दिया है। फिलहाल येदियुरप्पा दिल्ली का दौरा कर रहे हैं।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia