केरल में भारी बारिश का कहर, मरने वालों की संख्या हुई 26, मुन्नार में फंसे 57 विदेशी पर्यटक

केरल में 24 घंटे के अंदर बारिश और भूस्खलन के चलते 26 लोगों की मौत

केरल में बुधवार से हो रही बारिश के चलते हालात बदतर होते जा रहे हैं। भारी बारिश के कारण इडुक्की जिले और उत्तरी हिस्से में कई जगह भूस्खलन हुआ, जिसमें 26 लोगों की मौत हो गई।

केरल में भारी बारिश और भूस्खलन के चलते पिछले 24 घंटे में अलग-अलग जिलों में 26 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि कई लोग लापता बताए जा रहे हैं। सेना और एनडीआरएफ की टीमें भी राहत और बचाव कार्य में जुटी हैं। केंद्र सरकार भी केरल के हालात पर नजर बनाए हुए है।

इडुक्की बांध के दो और शटर आज सुबह खोल दिये गये। पेरियार नदी में पानी के प्रवाह में 125 क्यूसेक की वृद्धि दर्ज की गयी है। अधिकारियों ने बताया कि सेना और राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रया बल को इडुक्की, कोझिकोड, वायनाड और मलप्पुरम जिले के प्रभावित इलाकों में राहत अभियान में प्रशासन का सहयोग करने के लिए तैनात किया गया है।

भारी बारिश के कारण कई नदियां उफान पर हैं, जिस कारण राज्य के विभिन्न हिस्सों में कम से कम 24 बांधों को खोल दिया गया है। एशिया के सबसे बड़े अर्ध चंद्राकार बांध इडुक्की जलाशय से पानी छोड़े जाने से पहले रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है। सरकार ने बताया कि राज्य में पिछले दो दिनों में 10 हजार से अधिक लोगों को 157 राहत शिविरों में भेजा गया है।

पेरियार नदी के बढ़ते जलस्तर को देखते हुए कोच्चि एयरपोर्ट के डूबने की आशंका बतायी जा रही है। सभी जिलों में बाढ़ और पानी से बचने के लिए कंट्रोल रूम बनाए गए हैं और राहत और बचाव कार्य तेज गति से चलाया जा रहा है।

बारिश और बाढ़ से जूझ रहे केरल की स्थिति देखते हुए अमेरिका ने अपने नागरिकों यात्रा पर जाने से बचने की सलाह दी है। इसमें कहा गया है कि दक्षिण-पश्चिमी मानसून के कारण राज्य में भारी बारिश, बाढ़ और भूस्खलन की घटनाएं हो रही हैं। ऐसे में अमेरिकी नागरिकों को राज्य के सभी प्रभावित क्षेत्रों की यात्रा करने से परहेज करना चाहिए। इसमें कहा गया है कि केरल में भूस्खलन और बारिश के कारण आने वाली बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों में जाने से बचें।

खबरों के मुताबिक, विदेशियों समेत लगभग 57 पर्यटक मुन्नार में फंसे हुए हैं। विदेशियों में संयुक्त राज्य अमेरिका में से 2, सिंगापुर से 7, ओमान से 5, सऊदी से सात और 3 रूसी शामिल हैं। इन सभी से राज्य के पर्यटन मंत्री ने बात की है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

सबसे लोकप्रिय

अखबार सब्सक्राइब करें