केरल पुलिस ने एशियानेट न्यूज के कोझिकोड दफ्तर पर मारा छापा, सत्तारूढ़ दल ने फेक न्यूज चलाने का लगाया है आरोप

इससे पहले शुक्रवार को सत्तारूढ़ सीपीएम की छात्र शाखा एसएफआई के कार्यकतार्ओं के एक समूह ने कोच्चि में एशियानेट न्यूज के ऑफिस में जबरन घुसकर हंगामा किया था। इस मामले में चैनल की शिकायत पर एसएफआई के कई कार्यकर्ताओं के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

केरल में एशियानेट न्यूज के कोच्चि ब्यूरो में एसएफआई कार्यकर्ताओं के घुसने के दो दिन बाद आज केरल पुलिस ने मीडिया हाउस के कोझिकोड कार्यालय पर छापा मारा है। यह छापेमारी विधायक पी.वी. अनवर की शिकायत पर की गई है जिसमें उन्होंने चैनल पर उत्तरी केरल के एक स्कूल में 10 से अधिक छात्राओं के कथित यौन उत्पीड़न के बारे में फर्जी समाचार चलाने का आरोप लगाया है। सीपीएम सूत्रों ने आरोप लगाया है कि एक स्कूल में 10 से अधिक छात्राओं के कथित यौन उत्पीड़न की फर्जी खबर बनाने के लिए चैनल के खिलाफ शिकायत की गई थी।

हालांकि चैनल और विपक्षी दलो ने इससे इनकार करते हुए सीपीएम की पिनाराई विजयन सरकार पर एशियानेट न्यूज को निशाना बनाने का आरोप लगाया है। राज्य का चर्चित न्यूज चैनल लगातार विजयन सरकार की नाकामियों का पदार्फाश करता रहा है। चैनल ने सोना तस्करी रैकेट की आरोपी स्वप्ना सुरेश और राज्य सरकार के बीच सांठगांठ का भी पदार्फाश किया था। एशियानेट को केरल का बहुत प्रतिष्ठित चैनल माना जाता है। इसने राज्य में भ्रष्टाचार की कई घटनाओं को उजागर किया है।


छापेमारी के बाद एशियानेट न्यूज के अध्यक्ष राजेश कालरा ने कहा कि केरल पुलिस एक मनगढ़ंत मामले में कोझिकोड में एशियानेट न्यूज के कार्यालय पर छापा मार रही है। यह हमारे कोच्चि कार्यालय में एसएफआई के हंगामे की दूसरी कड़ी है। उन्होंने कहा कि एशियानेट को धमकाने का प्रयास विफल होगा और समाचार समूह इसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेगा।

राजेश कालरा ने यह भी कहा कि केरल में पहले भी मीडिया को चुप कराने की कोशिश की गई थी और सत्ता में बैठे लोग इसे दोहराने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन वह अपनी रणनीति में कामयाब नहीं होंगे। राजेश कालरा ने फर्जी खबर चलाने के विधायक के आरोपों को खारिज किया है और इसे पूरी तरह मनगढ़ंत करार दिया है।

गौरतलब है कि इसके पहले शुक्रवार को, स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) के कार्यकतार्ओं के एक समूह ने कोच्चि में मलयालम समाचार चैनल एशियानेट न्यूज के कार्यालय में जबरन प्रवेश कर हंगामा किया था। टीवी चैनल द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत के आधार पर, सत्तारूढ़ सीपीएम की छात्र शाखा, एसएफआई के कार्यकर्ताओं के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;