सांसदों के निलंबन पर भड़के खड़गे, कहा- PM मोदी और BJP देश में 'एकल पार्टी शासन' करना चाहते हैं स्थापित

कांग्रेस नेता ने कहा कि 141 सांसदों को निलंबित कर दिया गया है क्योंकि वे घुसपैठियों के प्रवेश पर गृह मंत्री से बयान चाहते थे, लेकिन उनके प्रवेश की सुविधा देने वाले बीजेपी सांसद बच गए हैं। उन्होंने एक्स पर पोस्ट किए गए एक बयान में पूछा, "यह किस तरह की जांच है।"

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

संसद सुरक्षा चूक की घटना पर विपक्ष लगातार सरकार को घेर रही है। इस हंगामे के बाद लोकसभा से 95 और राज्यसभा से 46 सहित कुल 141 सांसदों को निलंबित कर दिया गया है। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने मोदी सरकार को घेरा है। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री और बीजेपी देश में 'एकल पार्टी शासन' स्थापित करना चाहते हैं और संसद से सांसदों का निलंबन उसी के लिए किया जा रहा है।

कांग्रेस नेता ने कहा कि 141 सांसदों को निलंबित कर दिया गया है क्योंकि वे घुसपैठियों के प्रवेश पर गृह मंत्री से बयान चाहते थे, लेकिन उनके प्रवेश की सुविधा देने वाले बीजेपी सांसद बच गए हैं। उन्होंने एक्स पर पोस्ट किए गए एक बयान में पूछा, "यह किस तरह की जांच है।"


खड़गे ने कहा कि जाहिर तौर पर घुसपैठिए महीनों से इसकी योजना बना रहे थे और पूछा कि इस बड़ी खुफिया विफलता के लिए कौन जिम्मेदार है। खड़गे ने आश्चर्य जताया कि संसद की बहुस्तरीय सुरक्षा को देखते हुए, दो घुसपैठिए अपने जूतों में पीले गैस कनस्तरों को छिपाकर इमारत में प्रवेश करने और लगभग भारत के लोकतंत्र के गर्भगृह तक पहुंचने में कैसे कामयाब रहे।

खड़गे ने कहा, "प्रधानमंत्री और उनकी पार्टी देश में 'एकल पार्टी शासन' स्थापित करना चाहती है। वे 'एक अकेला' की बात करते हैं जो लोकतंत्र को ध्वस्त करने के समान है। उन्होंने विपक्षी सांसदों को निलंबित करके ठीक यही किया है।" 

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, "इस शर्मनाक सुरक्षा चूक के लिए उच्च पदों पर बैठे लोगों को दंडित करने के बजाय, उन्होंने सांसदों के लोकतांत्रिक अधिकारों को छीन लिया है, जिससे वे जवाबदेही से बच रहे हैं।"

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;