यूपी चुनाव नतीजों पर राजभर का बड़ा दावा- पहले चरण से था हार का पता, गठबंधन वोटर्स के दिमाग पढ़ने में विफल रहा

राजभर ने बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) पर भी हमला किया और इसे सपा गठबंधन की हार के लिए जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि हमने छह सीटें जीती और बीएसपी ने केवल एक। बीएसपी, बीजेपी को जीत दिलाने के लिए काम कर रही है और ऐसा करने में केवल एक सीट तक सीमित हो गई है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (एसबीएसपी) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने यूपी चुनाव नतीजों पर अब कहा है कि उन्हें पहले चरण के बाद से ही उनकी हार का एहसास हो गया था, लेकिन उन्होंने उस डॉक्टर की तरह चुप रहना चुना, जो एक मरीज के परिवार को कभी नहीं बताता कि वह मरने वाला है, लेकिन वह वास्तव में मर जाता है। राजभर ने कहा कि गठबंधन मतदाताओं के दिमाग को पढ़ने में विफल रहा है।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, "मैं उस समय हारने की बात कैसे कर सकता था, क्योंकि 6 चरण और बाकी थे।" उन्होंने कहा कि हम अपने प्रदर्शन की समीक्षा करेंगे और पता लगाएंगे कि हम असफल क्यों हुए। उन्होंने कहा कि सपा के नेतृत्व वाले गठबंधन ने गाजीपुर, आजमगढ़, मऊ, बलिया, बस्ती, अंबेडकर नगर और जौनपुर जैसे जिलों में उन सीटों पर बहुत अच्छा प्रदर्शन किया जहां एसबीएसपी जमीनी स्तर पर सालों से काम कर रही थी।"


उन्होंने बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) पर भी हमला किया और इसे सपा गठबंधन की हार के लिए जिम्मेदार ठहराया। राजभर ने कहा कि हालांकि बीएसपी एक राष्ट्रीय पार्टी है, लेकिन एसबीएसपी ने बेहतर प्रदर्शन किया है और पूर्व की तुलना में एक बड़ी पार्टी बनकर उभरी है।राजभर गाजीपुर की जहूराबाद सीट से दूसरी बार जीते हैं जबकि उनके बेटे अरविंद राजभर वाराणसी की शिवपुर सीट से बीजेपी के अनिल राजभर से हार गए।

वहीं एसबीएसपी ने 2017 के चुनावों से अपने प्रदर्शन में सुधार किया और उसने जिन 19 सीटों पर चुनाव लड़ा, उनमें से 6 सीटों पर जीत हासिल की। 2017 के चुनावों में एसबीएसपी ने बीजेपी के साथ गठबंधन में चार सीटें जीत थीं। उन्होंने पूछा कि हमने छह सीटें जीती हैं और बीएसपी ने केवल एक जीती है। बीएसपी, बीजेपी को जीत दिलाने के लिए काम कर रही है और ऐसा करने में पार्टी केवल एक सीट तक सीमित हो गई है। बाबासाहेब का मिशन कहां है?

बता दें कि यूपी चुनाव में बीजेपी 255 सीटों के साथ विजयी हुई और समाजवादी पार्टी (सपा) 111 सीटों के साथ दूसरे स्थान पर रही। यूपी चुनाव में एसबीएसपी, आरएलडी, अपना दल(के) और एनसीपी के साथ समाजवादी पार्टी के गठबंधन सहयोगियों में से एक था।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia