जानिए धारा 370 हटने के बाद पहली बार घाटी में कैसे मनाई जा रही है ईद

जम्मू में भी ईद को लेकर आम लोगों को छूट दी गई है। यहां धारा 144 पहले से ही हटा दी गई है, अब फोन कॉलिंग भी शुरू कर दी गई है। जम्मू में प्रशासन कड़ी नज़र बनाए हुए है। वहीं करगिल में हालात सामान्य हैं, लेकिन इंटरनेट अभी भी बंद है। वहीं लेह में इंटरनेट काम कर रहा है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

धारा 370 हटने के बाद जम्मू-कश्मीर में पहली बार ईद मनाई जा रही है। बताया जा रहा है कि घाटी में शांति का माहौल है, संवेदनशील इलाकों में अतिरिक्त सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है। ईद के त्योहार को देखते हुए घाटी में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।

खबरों के मुताबिक, जम्मू में भी ईद को लेकर आम लोगों को छूट दी गई है। यहां धारा 144 पहले से ही हटा दी गई है, अब फोन कॉलिंग भी शुरू कर दी गई है। जम्मू में प्रशासन कड़ी नज़र बनाए हुए है। वहीं करगिल में हालात सामान्य हैं, लेकिन इंटरनेट अभी भी बंद है। वहीं लेह में इंटरनेट काम कर रहा है।

ईद से पहले धारा 144 में छूट दी गई थी जिसके बाद लोग खरीदारी के लिए बाहर निकले थे, बाजार में चहल-पहल दिखाई दे रही थी। ईद के त्योहार को देखते हुए 300 टेलिफोन बूथ बनाए गए हैं, ताकि आम लोग अपने करीबियों-रिश्तेदारों से बात कर सकें।

अधिकारियों ने बताया कि घाटी में कहीं से भी हिंसा की सूचना नहीं है। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, जम्मू क्षेत्र में हालात तेजी से सामान्य हो रहे हैं। वहां 5 जिलों से निषेधाज्ञा पूरी तरह हटा ली गयी है और बाकी 5 जिलों में ईद को देखते हुए प्रतिबंधों/निषेधाज्ञा में छूट दी गयी है।

आम लोगों को त्योहार के दिनों में किसी तरह की दुविधा ना हो, इसलिए छुट्टी में भी बैंक खुले रखने का आदेश दिया गया। साथ ही साथ 3500 से अधिक राशन की दुकानें भी खुली रहेंगी। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल अभी भी घाटी में ही हैं और हर तरह से नज़र बनाए हुए है।

Published: 12 Aug 2019, 9:29 AM
लोकप्रिय