पंजाब चुनाव में बुरी तरह घिरे केजरीवाल, AAP के पूर्व नेता कुमार विश्वास ने ‘आप’ संयोजक पर फोड़ा आरोप का सबसे बड़ा बम!

कुमार विश्वास ने केजरीवाल बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि सत्ता पाने के लिए केजरीवाल अलगाववादियों से मिले हुए हैं। उन्होंने कहा कि केजरीवाल की यह सोच बेहद पुरानी है। विश्वास ने कहा कि केजरीवाल तो कहते हैं कि मैं स्वतंत्र राज्य का सीएम बनाना चाहता हूं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पंजाब में चुनावी सरगर्मियां तेज हैं। पार्टियां जोर-शोर से चुनाव की तैयारी में जुटी हुई हैं। आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल सरकार बनाने का दावा कर रहे हैं। सत्ता पाने के लिए वह शाम, दाम, दंड भेद, हर उपाय में जुटे हुए हैं। इस बीच केजरीवाल के पूर्व सहयोगी और आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता कुमार विश्वास ने केजरीवाल पर आरोपों का सबसे बड़ा बम फोड़ा है। इसके साथ ही कुमार वाश्वास ने ये साबित कर दिया है कि सत्ता पाने के लिए केजरीवाल कुछ भी कर सकते हैं।

कुमार विश्वास ने केजरीवाल बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि सत्ता पाने के लिए केजरीवाल अलगाववादियों से मिले हुए हैं। उन्होंने कहा कि केजरीवाल की यह सोच बेहद पुरानी है। विश्वास ने कहा कि केजरीवाल तो कहते हैं कि मैं स्वतंत्र राज्य का सीएम बनाना चाहता हूं। विश्वास ने यह भी कहा कि केजरीवाल स्वतंत्र देश के रूप में पंजाब का प्रधानमंत्री बनने का भी सपना देखते हैं।

न्यूज़ एजेंसी एएनाई से बात करते हुए कुमार विश्वास ने कहा, “पंजाब एक राज्य नहीं है एक भावना है। मैं यह हमेशा कहता हूं कि पंजाब एक राज्य नहीं है वह एक भावना है। ऐसे में एक ऐसा आदमी (अरविंद केजरीवाल) जिससे मैंने कहा था कि जो अलगाववादी संगठन हैं, जो खालिस्तानी आंदोलन से जुड़े हुए लोग हैं, उनका साथ मत ले इस चुनाव में, उन्होंने मुझसे कहा था कि चिंता मत कर हो जाएगा। मैंने पूछा कि कैसे मुख्यमंत्री बनेगा, तो उसने (केजरीवाल) फॉर्मूला भी बताया था कि भगवंत को फुलका जी को लड़वा दूंगा और मैं पहुंच जाऊंगा।”

कुमार विश्वास ने आगे कहा, “आज भी वह (केजरीवाल) उसी पथ पर है, मानो या मत मानो। उसने मुझे इतनी भयानक बातें बोलीं जोकि पंजाब में सबको पता है। एक दिन तो उसने (केजरीवाल) ने मुझे यह कहा कि तू चिंता मत कर मैं एक दिन स्वतंत्र सूबे का मुख्यमंत्री बनूंगा, फिर मैंने कहा कि यह अलगाववाद, 20-20 का रिफ्रेंडम आ रहा है पूरी दुनिया फंडिंग कर रही है। आईएसआई से लेकर बाकी अलगाववादी संगठन कर रहे हैं। उसने (केजरीवाल) कहा कि तो क्या हो गया तो मैं स्वतंत्र देश का पहला प्रधानमंत्री बनूंगा। जिस आदमी की सोच में इतनी ज्यादा अलगाववाद है किसी भी कीमत पर मुझे सरकार मिले, सत्ता मिले। मुझे दुख है कि उन्हें समझाना चाहिए कि वह एक राज्य नहीं है एक भावना है।”

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 16 Feb 2022, 2:12 PM