गोपाल राय के आरोपों पर कुमार विश्वास का तंज, दो ‘गुप्ता’ के योगदान का आनंद लें कुछ दिन

राज्यसभा नहीं भेजे जाने से आहत आम आदमी पार्टी नेता और कवि कुमार विश्वास और पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेताओं के बीच जमकर आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

आम आदमी पार्टी द्वारा राज्य सभा के उम्मीदवारों के नाम के ऐलान के बाद से प्रतिदिन एक नया सियासी ड्रामा देखने को मिल रहा है। पार्टी की ओर से राज्य सभा नहीं भेजे जाने से आहत आप नेता और कवि कुमार विश्वास लगातार अरविंद केजरीवाल से लेकर पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेताओं पर तीखा हमला बोल रहे हैं। इसके जवाब में आप के कई वरिष्ठ नेता भी कुमार विश्वास के खिलाफ रोज नया मोर्चा खोल रहे हैं। राज्य सभा की सीट को लेकर दोनों ही ओर से आरोप-प्रत्यारोप का दौर अपने चरम पर है।

इसी कड़ी में आप नेता और दिल्ली सरकार में मंत्री गोपाल राय ने कुमार विश्वास पर निशाना साधा था। राय के आरोपों के फौरन बाद कुमार विश्वास ने जवाबी हमला करते हुए उन पर और पार्टी के अन्य नेताओं पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने गोपाल राय पर कटाक्ष करते हुए कहा, “9-9 पदों पर बैठे पांच राज्यों के पार्टी प्रभारी, दिल्ली के पार्टी संयोजक और सरकार में मंत्री से मेरा अनुरोध है कि कांग्रेस और बीजेपी से नए-नए आए जो दो गुप्ता हैं, उनके योगदान का कुछ दिन आनंद लें और मेरे शव के साथ छेड़छाड़ ना करें।” विश्वास ने पार्टी नेतृत्व पर तंज कसते हुए कहा कि इस माहिष्मति की शिवगामी कोई और है। विश्वास ने आगे कहा, “पिछली बार मैं गोपाल राय को जितवाने के लिए रैलियां करने गया था, अब वो गुप्ता जी को ले जाएं। मेरी शुभकामना है कि गोपाल राय जी विधायक, सांसद प्रधानमंत्री बनें, किम जोंग ने उन्हें भी बहुत तंग कर रखा है तो लगे हाथ वह संयुक्त राष्ट्र प्रमुख भी बन जाएं, तो विश्व शांति भी हो जाएगी।'

इससे पहले दिल्ली सरकार के मंत्री और आप नेता गोपाल राय ने फेसबुक पर एक लाइव सेशन में विश्वास पर आरोप लगाते हुए कहा था कि उन्हें राज्यसभा भेजने पर विचार हुआ था। लेकिन दिल्‍ली के नगर निगम चुनावों के बाद उनके द्वारा आप सरकार को गिराने का प्रयास किया गया था, जिस वजह से उनका नाम हटा दिया गया। राय ने आरोप लगाया कि पार्टी की सरकार गिराने के उस षड़यंत्र के केंद्र में विश्वास ही थे। राय ने कहा कि दिल्‍ली सरकार में मंत्री रहे आप के बागी विधायक कपिल मिश्रा भी उस साजिश का हिस्सा थे। राय ने विश्वास पर आरोप लगाया, “वह ऐसे शख्स हैं, जिन्होंने जहां भी संभव हुआ पार्टी पर प्रहार किया। ऐसे में क्या ऐसे व्यक्ति को राज्यसभा भेजा जा सकता है?”

इससे पहले कुमार विश्वास ने एक ट्वीट में एक पुराने वीडियो का जिक्र करते हुए कहा था कि उन्होंने जो मुद्दे उठाए हैं, उन पर वे पुनर्विचार नहीं करेंगे। उन्होंने ट्वीट कर कहा, “इस वीडियो की आवाज मेरे लिए सर्वोपरि थी, है और रहेगी, भले ही हाल में मुझे इसके लिए कीमत चुकानी पड़ी है। इस वीडियो के रुख पर मैं कभी समझौता नहीं करूंगा चाहे भविष्य में मुझे और कुर्बानियां क्यों ना देनी पड़ें।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia