लखीमपुर कांड: केंद्रीय मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा ने यूपी पुलिस को दिखाया ठेंगा! बुलाने पर नहीं हुआ हाजिर

पुलिस सूत्रों के अनुसार पुलिस आशीष मिश्रा के मोबाइल फोन को ट्रैक कर रही थी और उसकी लोकेशन गुरुवार को उत्तर प्रदेश-नेपाल सीमा पर गौरीफंटा के पास मिली। हालांकि, वह स्पष्ट रूप से अपना स्थान बदल रहे हैं, संभवत: वह अब उत्तराखंड के बाजपुरा में हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा शुक्रवार को लखीमपुर पुलिस के सामने बयान दर्ज कराने के लिए पेश नहीं हुए। आशीष को शुक्रवार को रिजर्व पुलिस लाइन स्थित अपराध शाखा कार्यालय में सुबह 10 बजे पेश होने के लिए बुलाया गया था। हालांकि, वह निर्धारित समय पर उपस्थित नहीं हो सके।

पुलिस सूत्रों के अनुसार पुलिस आशीष मिश्रा के मोबाइल फोन को ट्रैक कर रही थी और उसकी लोकेशन गुरुवार को उत्तर प्रदेश-नेपाल सीमा पर गौरीफंटा के पास मिली। हालांकि, वह स्पष्ट रूप से अपना स्थान बदल रहे हैं, संभवत: वह अब उत्तराखंड के बाजपुरा में हैं।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, "हमने उत्तराखंड और नेपाल में अपने समकक्षों को सतर्क कर दिया है और उसकी तलाश के लिए टीमों का गठन किया गया है।" इस बीच, लखीमपुर के शाहपुरा इलाके में उनके आवास पर कार्यकर्ताओं ने कहा कि वह 'दो दिन पहले' घर से निकले थे।

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शुक्रवार को कहा कि अजय मिश्रा टेनी के नेपाल के साथ पुराने संबंध हैं और अब इस मामले में हस्तक्षेप करना केंद्र सरकार पर निर्भर है।


बता दें कि 3 अक्टूबर को डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य तय कार्यक्रम के तहत लखीमपुर खीरी के दौरे पर थे। उन्हें रिसीव करने के लिए गाड़ियां जा रही थीं। ये गाड़ियां केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा की बताई गईं। रास्ते में तिकुनिया इलाके में किसानों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। इससे झड़प हो गई। बाद में ऐसा आरोप लगाया गया कि आशीष मिश्रा ने किसानों के ऊपर गाड़ी चढ़ा दी, जिससे 4 लोगों की मौत हो गई। किसानों की मौत के बाद मामला बढ़ गया और हिंसा भड़क गई।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia