लखीमपुर खीरी हिंसा: आशीष मिश्रा को दूसरा नोटिस जारी, सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के बावजूद आजाद है मंत्री का बेटा

इससे पहले आज यूपी सरकार ने लखीमपुर हिंसा पर सुप्रीम कोर्ट में स्टेटस रिपोर्ट दाखिल की, जिस पर कोर्ट संतुष्ट नहीं हुआ और फटकार लगाते हुए कहा आरोपी चाहे जो हैं उन पर वैसा एक्शन क्यूं नहीं हुआ, जैसा होना चाहिए। मामले में सीबीआई जांच की मांग क्यों नहीं की गई।

फोटोः ANI
फोटोः ANI
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में किसानों पर गाड़ी चढ़ाने के आरोपी केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी का बेटा आशीष मिश्रा नोटिस जारी होने के बावजूद पुलिस के सामने पेश नहीं हुआ। इसके बाद आज फिर यूपी पुलिस ने एक नया नोटिस जारी कर आशीष को 9 अक्टूबर को बयान दर्ज कराने के लिए पेश होने को कहा है।

नोटिस में कहा गया है कि आशीष मिश्रा को शुक्रवार को पुलिस के सामने पेश होने के लिए कहा गया था, लेकिन वह ऐसा करने में नाकाम रहे। इस बार नोटिस में आशीष मिश्रा को चेतावनी भी दी गई है कि अगर वह शनिवार को पेश नहीं हुए तो उनके खिलाफ आवश्यक कानूनी कार्रवाई की जाएगी।


आशीष मिश्रा को यह दूसरा नोटिस तब जारी किया गया है, जब राज्य सरकार ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान बताया कि आशीष मिश्रा शनिवार को पुलिस के सामने पेश होगा। कोर्ट में सुनवाई के दौरान सरकार के वकील हरीश साल्वे ने कहा कि आशीष कल 11 बजे तक पेश हो जाएगा।

इससे पहले आज यूपी सरकार ने लखीमपुर हिंसा पर सुप्रीम कोर्ट में स्टेटस रिपोर्ट दाखिल की। हालांकि कोर्ट सरकार के जवाब से संतुष्ट नहीं हुई और फटकार लगाते हुए पूछा कि मामला जब 302 का है तो अब तक गिरफ्तारी क्यों नहीं हुई। कोर्ट ने कहा कि हत्या के गंभीर आरोप हैं। आरोपी चाहे जितने हैं उन पर वैसा एक्शन क्यूं नहीं हुआ, जैसा होना चाहिए। मामले में सीबीआई जांच की मांग क्यों नहीं की गई है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 08 Oct 2021, 4:24 PM