लखीमपुर हिंसाः कांग्रेस का अजय मिश्रा की बर्खास्तगी के लिए देशव्यापी मौन व्रत, प्रियंका ने लखनऊ में की अगुवाई

लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर मोदी सरकार को घेरते हुए कांग्रेस ने आज देशव्यापी मौन व्रत का आयोजन कर प्रदर्शन किया। इस दौरान कांग्रेस नेताओं ने यूपी से लेकर जम्मू तक मौन व्रत रखकर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के पद से अजय मिश्रा को बर्खास्त करने की मांग की।

फोटोः
फोटोः
user

नवजीवन डेस्क

लखीमपुर खीरी हिंसा मामले को लेकर कांग्रेस ने बीजेपी और मोदी सरकार को घेरने के लिए सोमवार को देशव्यापी मौन व्रत के जरिये विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान कांग्रेस नेताओं ने विभिन्न राज्यों की राजधानी में मौन व्रत रखकर मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा के पिता अजय मिश्रा टेनी को केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के पद से बर्खास्त करने की मांग की। उत्तर प्रदेश में खुद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने मौन व्रत की कमान संभाली।

लखीमपुर हिंसा मामले में आरोपियों को जल्द सजा देने और मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा के पिता और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त करने की मांग को लेकर लखनऊ में कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं ने जीपीओ पार्क में महात्मा गांधी की प्रतिमा के नीचे 'मौन व्रत' रखा। इस दौरान कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी भी मौन व्रत में शामिल हुईं। इस दौरान राज्य पार्टी प्रमुख अजय कुमार लल्लू, पूर्व सांसद प्रमोद तिवारी, पी एल पुनिया और कांग्रेस विधायक दल की नेता आराधना मिश्रा ने हाथों में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री को बर्खास्त करने की मांग वाली तख्तियां लिए मौन व्रत रखा।

राजधानी दिल्ली में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अनिल कुमार की अगुवाई में पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं ने लखीमपुर खीरी कांड में गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के इस्तीफ की मांग को लेकर दिल्ली के उपराज्यपाल निवास के बाहर मौन व्रत के रुप में धरना दिया। प्रदेश अध्यक्ष अनिल कुमार ने कहा कि लखीमपुर खीरी हिंसा में गृह राज्यमंत्री, उत्तर प्रदेश पुलिस और प्रशासन ने आरोपियों को बचाने की पुरजोर कोशिश की और बिगड़ती व्यवस्था के कारण सर्वोच्च न्यायालय द्वारा मामले में सीधे हस्तक्षेप करने बाद ही उनके बेटे को गिरफ्तार किया गया। इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कहा कि साम्प्रदायिकता की राजनीति करने वाली बीजेपी की सरकार में किसी भी वर्ग का व्यक्ति सुरक्षित नहीं है।

लखीमपुर खीरी कांड के विरोध में हरियाणा में भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मौन व्रत रखा। आज कपास भवन के बाहर मौन व्रत में हरियाणा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने भी हिस्सा लिया। इस दौरान कुमारी सैलजा ने कहा कि देश के किसानों का मुद्दा बहुत बड़ा है। लखीमपुर खीरी कांड में जिन किसान भाइयों और पत्रकार भाई की जान गई है, उनके परिवार पर क्या बीती होगी? लेकिन बीजेपी सरकार की तानाशाही रुकने का नाम नहीं ले रही है।


लखीमपुर खीरी में मारे गए किसानों को इंसाफ दिलवाने के लिए अमृतसर में भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा रेलवे स्टेशन पर मौन व्रत रखा गया। धरने में पंजाब कांग्रेस के कार्यकारी प्रधान सुखविंदर सिंह डैनी, एमएलए सुनील दत्त, पीपीसीसी के महासचिव जोगिंदर पाल ढींगरा, नगर सुधार ट्रस्ट के चेयरमैन दमनदीप सिंह, सीनियर डिप्टी मेयर रमन पक्षी के अलावा बड़ी सख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता शामिल हुए। पंजाब कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष सुखविंदर सिंह डैनी ने कहा कि केंद्र की बीजेपी सरकार तानाशाही पर उतर आई है। लखीमपुर में मारे गए किसानों को अभी तक इंसाफ नहीं मिला है। जब तक केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी का इस्तीफा नहीं हो जाता, तब तक कांग्रेस धरना प्रदर्शन जारी रखेगी।

चंडीगढ़ में भी कांग्रेस के नेताओं ने गवर्नर हाउस के बाहर मौन व्रत रखा है। पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के कोषाध्यक्ष पवन बंसल के नेतृत्व में सुभाष चावला, देविंदर बबला, एचएस लक्की, राजीव मौदगिल, मनोज लोबाना, हाफिज अनवारुलहक समेत कई नेताओं औऱ कार्यकर्ताओं ने चंडीगढ़ में पंजाब राज भवन के बाहर धरना दिया और मौन व्रत रखा। नेताओं ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के इस्तीफे और लखीमपुर खीरी के किसानों को न्याय दिलाने की मांग की।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने उत्तर प्रदेश में निर्दोष किसानों की हत्या के खिलाफ आज गोवा के आजाद मैदान में धरना दिया और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी को तत्काल बर्खास्त करने की मांग की। चिदंबरम के साथ एआइसीसी प्रभारी दिनेश गुंडू राव, गोवा कांग्रेस अध्यक्ष गिरीश चोडनकर, विधायक दल के नेता दिगंबर कामत, कार्यकारी अध्यक्ष एलेक्स सेक्विरा समेत कई कांग्रेसी नेताओं ने मौन व्रत में भाग लिया।

राजस्थान के कैबिनेट मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास, कांग्रेस के मुख्य सचेतक महेश जोशी ने भी लखीमपुर हिंसा को लेकर जयपुर में मौन व्रत रखकर प्रदर्शन किया। तमिलनाडु कांग्रेस ने भी लखीमपुर खीरी कांड को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार और केंद्र सरकार के खिलाफ मौन व्रत का आयोजन किया। जम्मू-कश्मीर कांग्रेस प्रभारी रजनी पाटिल और प्रदेश अध्यक्ष गुलाम अहमद मीर ने भी पार्टी के अन्य नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ गवर्नर हाउस के पास मौन विरोध प्रदर्शन किया। बिहार की राजधानी पटना में भी कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं द्वारा मौन विरोध कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें प्रदेश कांग्रेस प्रभारी भक्त चरणदास और प्रदेश अध्यक्ष डा. मदन मोहन झा सहित बिहार कांग्रेस के सभी वरिष्ठ नेताओं ने भाग लिया।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia