लखीमपुर हिंसा: चौतरफा घिरे मंत्री अजय मिश्रा ने अमित शाह को दी सफाई, किसानों को कुचलने का आरोपी बेटा अब भी आजाद

इस मामले में बेटे आशीष मिश्रा के अलावा केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा पर भी किसानों के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने के आरोप लग रहे हैं, जिसको उस दिन हिंसा भड़कने का कारण बताया जा रहा है। इस भाषण का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा में बेटे आशीष मिश्रा का नाम आने के बाद से सवालों के घेरे में आए केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा ने बुधवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की। माना जा रहा है कि आधे घंटे से अधिक चली इस बैठक में मिश्रा ने इस मामले में अपनी स्थिति स्पष्ट की होगी। मुलाकात से पहले वह नॉर्थ ब्लॉक स्थित अपने ऑफिस गए और वहां कुछ देर रुकने के बाद शाह से मिलने चले गए।

बता दें कि रविवार को उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के एक समारोह के लिए केंद्रीय मंत्री के लखीमपुर खीरी में पैतृक गांव जाने का विरोध कर रहे किसानों को कथित रूप से केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा ने अपनी थार जीप से कुचल दिया था, जिससे 4 किसानों की मौत हो गई थी। इसके बाद भड़की हिंसा में एक स्थानीय पत्रकार समेत 5 और लोगों की मौत हो गई थी, जिससे कुल मृतकों की संख्या 9 हो गई।


भारी दबाव के बाद यूपी पुलिस द्वारा दर्ज एफआईआर में आशीष मिश्रा के खिलाफ हत्या और लापरवाही से मौत का आरोप लगाया गया है, लेकिन घटना के तीन दिन बीत जाने के बावजूद आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी नहीं हुई है। पुलिस की यह निष्क्रियता किसानों के साथ-साथ विपक्षी नेताओं के गुस्से को भी हवा दे रही है।

गौरतलब है कि इस मामले में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा पर भी किसानों के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने के आरोप लग रहे हैं, जिसको उस दिन हिंसा भड़कने का कारण बताया जा रहा है। इस भाषण का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। हालांकि, मंत्री और उनके बेटे ने स्पष्ट रूप से इस घटना में किसी भी तरह की संलिप्तता से इनकार किया है और उन्होंने दावा किया कि उनका बेटा घटनास्थल पर मौजूद नहीं था।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia