संसद की सुरक्षा में चूकः गुरुग्राम, लखनऊ, लातूर में आरोपियों के घर छापेमारी, परिवार से पूछताछ जारी

आज संसद के अदंर सुरक्षा में सेंध लगाकर सनसनी पैदा करने वाले चारों आरोपियों के घरों पर पुलिस ने लखनऊ, गुरुग्राम और महाराष्ट्र के लातूर में छापेमारी की है। पुलिस आरोपियों के परिवार से पूछताछ भी कर रही है। कुछ आरोपियों के परिजनों को हिरासत में भी लिया गया है।

गुरुग्राम, लखनऊ, लातूर में आरोपियों के घर छापेमारी, परिवार से पूछताछ जारी
गुरुग्राम, लखनऊ, लातूर में आरोपियों के घर छापेमारी, परिवार से पूछताछ जारी
user

नवजीवन डेस्क

राजधानी दिल्ली में बुधवार दोपहर संसद भवन में बड़े पैमाने पर सुरक्षा में सेंध लगाकर सनसनी पैदा करने वाले चारों आऱोपियों के घरों पर पुलिस ने लखनऊ, गुरुग्राम और महाराष्ट्र के लातूर में छापेमारी की है। पुलिस आरोपियों के परिवार से पूछताछ भी कर रही है। पुलिस ने कुछ आरोपियों के परिजनों को हिरासत में भी लिया है।

संसद भवन की सुरक्षा में सेंध लगाने के आरोप में हिरासत में लिए गए चार लोगों में से एक सागर शर्मा (27) ई-रिक्शा चालक है और वह बढ़ई शंकरलाल शर्मा का बेटा है। वह लखनऊ के आलमबाग का रहने वाला है और सुरक्षा एजेंसियां उसके आधार कार्ड से पता लेकर उसके आवास पर पहुंची हैं और उसकी मां रानी और नाबालिग बहन समेत उसके परिवार के सदस्यों से पूछताछ कर रही हैं।

बहन ने बताया कि उसका भाई बेंगलुरु में दो साल बिताने के बाद इस साल अगस्त में लखनऊ लौट आया था। बेंगलुरु में वह एक दोस्त के साथ रहकर काम कर रहा था। वहां उसकी किस तरह की नौकरी थी, उस बारे में वह कुछ नहीं जानती है। उसने कहा कि उसके भाई ने 12वीं कक्षा तक पढ़ाई की है और अब पैसे कमाने के लिए लखनऊ में ई-रिक्शा चलाता है। बहन ने कहा, “उसने दो दिन पहले मां को बताया था कि वह एक डिमोंसट्रेशन में भाग लेने के लिए दिल्ली जा रहा है। मैं और कुछ नहीं जानती।''


इसी तरह संसद की सुरक्षा में सेंध लगाने वाले दूसरे आरोपी विक्की शर्मा के गुरुग्राम स्थित घर पर भी पुलिस ने दबिश दी है। पड़ोसियों ने बताया कि पुलिस अपने साथ विक्की की पत्नी को ले गई है। आरडब्ल्यूए के अध्यक्ष विजय परमार ने बताया कि पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम मेरे पास आई और उन्होंने मुझे सब कुछ बताया। आरोपी विक्की शर्मा के पास कोई स्थाई नौकरी नहीं थी। वह कभी ड्राइवर तो कभी चौकीदार के रूप में काम करता था। पुलिस विक्की और उसकी पत्नी को अपने साथ ले गई है।

संसद पर हमले के आरोपियों में से एक अन्य अमोल शिंदे के घर पर भी पुलिस ने छापा मारा है। सूत्रों ने बताया कि जैसे ही यह पुष्टि हुई कि चारों में से एक, 25 वर्षीय शिंदे, लातूर के जरी गांव का रहने वाला है, स्थानीय पुलिस उसके घर पहुंची और उसके माता-पिता से पूछताछ की और तलाशी ली। पुलिस ने उसके घर, अलमारियों और अन्य फर्नीचर की पूरी तरह से तलाशी ली, दस्तावेजों या अन्य सबूतों की तलाश की, ताकि संसद की घटना से संबंधित कोई सुराग मिल सके।


जाहिर तौर पर सदमे में आए आरोपी युवक के पिता और मां ने पुलिस को बताया कि उनका बेटा अमोल दो हफ्ते पहले यह कहकर घर से निकला था कि वह दिल्ली जा रहा है। हालांकि, उसने अपनी यात्रा के संबंध में कोई और जानकारी नहीं दी थी। दिल्ली पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए अमोल शिंदे का इरादा जानने के लिए उसके दोस्तों, रिश्तेदारों या परिचितों, किसी आपराधिक इतिहास, किसी राष्ट्र-विरोधी संगठनों के साथ उसके संभावित संबंधों या किसी राजनेता और राजनीतिक संगठनों के साथ उसके संबंधों के बारे में पुलिस जानकारी जुटाने में लगी है। रिपोर्ट की प्रतीक्षा की जा रही है।

इस बीच पुलिस के हवाले से सूत्रों ने बताया है कि संसद की सुरक्षा में चूक और हंगामा करने की साजिश में कुल छह लोग शामिल थे। चार लोगों को पकड़ लिया गया, जबकि बाकी दो की तलाश की जा रही है। छह लोगों में से पांच लोग जो दिल्ली के बाहर से थे, घटना से पहले गुरुग्राम में एक स्थान पर रुके थे।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;