कश्मीरी पंडित की हत्या के खिलाफ प्रदर्शन पर लाठीचार्ज, तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले

नाराज प्रदर्शनकारियों ने कहा कि उन्होंने प्रशासन और पुलिस को सूचित किया है कि उपराज्यपाल को मौके पर जाना चाहिए और उन्हें उनकी सुरक्षा का आश्वासन देना चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि राहुल भट की हत्या में शामिल दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

जम्मू-कश्मीर के बडगाल में गुरुवार को आतंकवादियों द्वारा कश्मीरी पंडित राहुल भट की हत्या के खिलाफ उनके कुछ सहयोगियों ने आज सड़क पर उतरकर रोष जताया। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागकर और लाठीचार्ज कर प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर कर दिया।

प्रदर्शनकारी कश्मीरी पंडित कर्मचारी श्रीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे की ओर मार्च कर रहे थे, तभी पुलिस ने उनके मार्च को रोका और उन्हें तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे। इसके बाद भी प्रदर्शनकारियों के नहीं मानने पर पुलिस ने हल्का लाठीचार्ज कर भीड़ को तितर-बितर कर दिया।


प्रदर्शन कर रहे पंडित कर्मचारी शेखपोरा-बडगाम प्रवासी कॉलोनी के थे। वे राहुल भट के हत्यारों को गिरफ्तार करने और उन्हें सजा दिलाने की मांग को लेकर नारे लगा रहे थे। वह तहसील कार्यालय चदूरा में ड्यूटी के दौरान मारे गए थे। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि वे सुबह 11 बजे तक उपराज्यपाल मनोज सिन्हा का इंतजार कर रहे थे, लेकिन वह नहीं आए और उन्होंने अपना विरोध दर्ज कराने के लिए हवाई अड्डे की ओर मार्च करने का फैसला किया।

नाराज प्रदर्शनकारियों ने कहा कि उन्होंने प्रशासन और पुलिस को सूचित किया है कि उपराज्यपाल को मौके पर जाना चाहिए और उन्हें उनकी सुरक्षा का आश्वासन देना चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि राहुल भट की हत्या में शामिल दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia