बिहार में नहीं थम रहा कोरोना का कहर, पूरे सूबे में 31 जुलाई तक लगा लॉकडाउन

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए पूरे बिहार में 16 से 31 जुलाई तक पूर्ण लॉकडाउन लगा दिया गया है। इस दौरान आवश्यक सेवाओं के कार्यालयों को छोड़कर सभी ऑफिस, दुकानें, धार्मिक स्थल बंद रहेंगे। हालांकि, राशन, सब्जी, दूध आदि जरूरी सेवाएं जारी रहेंगी।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बिहार में कोरोना वायरस का कहर कम होने का नाम नहीं ले रहा है। मंगलवार को सूबे की सत्ता में भागीदार बीजेपी के 70 नेताओं के कोरोना संक्रमित होने की खबर से राज्य में कोहराम मच गया। हालात को देखते हुए नीतीश सरकार ने पूरे राज्य में 16 दिन के पूर्ण लॉकडाउन का ऐलान कर दिया है। बिहार सरकार के गृह विभाग द्वारा मंगलवार को जारी आदेश में कहा गया है कि कोविड-19 के बढ़ने के कारण प्रदेश में 16 से 31 जुलाई तक पूर्ण लॉकडाउन रहेगा। हालांकि पटना सहित कई जिलों में पहले से ही प्रतिबंध लागू हैं।

आदेश के तहत सभी तरह के कार्यालय (कुछ आवश्यक सेवा के कार्यालयों को छोड़कर), दुकानें, धार्मिक स्थल बंद रहेंगे। राज्य सरकार और केंद्र सरकार के सारे दफ्तर भी बंद रहेंगे। डिफेंस, पुलिस, पेट्रोल पंप, पोस्ट आफिस सहित कुछ कार्यालयों को छूट रहेगी। हालांकि, बिजली, पानी, स्वास्थ्य, सिंचाई, खाद्य वितरण, कृषि और पशुपालन विभाग आदि से जुड़े दफ्तर खुलेंगे। सूबे के सभी अस्पताल और स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े लोगों और कार्यों को पूरी तरह लॉकडाउन से छूट दी गई है।

लॉकडाउन के दौरान जरूरी सेवाएं और सुविधाएं उपलब्ध रहेंगी। आदेश के मुताबिक, संबंधित जिलाधिकारी के आदेश के बाद राशन की दुकान, फल, सब्जी, दूध, डेयरी, मीट, मछली, एनिमल फूडर की दुकानें सुबह और शाम में खोली जा सकती हैं। बैंक, इंश्योरेंस कार्यालय, एटीमएम, प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को प्रतिबंध से मुक्त रख गया है। मालवाहक वाहन और खेती-किसानी और निर्माण कार्य संबंधी काम को अनुमति होगी।

इनके अलावा बैंक और एटीएम खुले रहेंगे। होटल, रेस्त्रां या ढाबों को भी छूट रहेगी, पर लॉकडाउन के दौरान वहां खाया-पीया नहीं जा सकेगा। केवल टेक अवे या होम डीलिवरी सेवा रहेगी। साथ ही रेल, हवाई सफर को मंजूरी है और सूबे में ऑटो-टैक्सी के परिचालन की भी अनुमति होगी। जरूरी सेवाओं के लिए निजी वाहनों की आवाजाही पर भी रोक नहीं रहेगी। बाकी अन्य परिवहन सेवाएं बंद रहेंगी।

गौरतलब है कि बिहार में कोरोना संक्रमितों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है। बिहार में कोरोना संक्रमितों की संख्या 18 हजार को पार कर गई है। बिहार में सर्वाधिक कोरोना प्रभावित जिले पटना, भागलपुर और बेगुसराय हैं। सूबे के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, 14 जुलाई की शाम तक सूबे में एक्टिव कोरोना मरीजों की संख्या 5690 है, जबकि कुल संक्रमितों की संख्या 18 हजार को पार कर गई है। वहीं पूरे देश की बात करें तो मंगलवार को 28,498 नए केस सामने आने के बाद देश में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़कर नौ लाख के पार पहुंच गए। केवल तीन दिन में ही मामले आठ से नौ लाख के पार पहुंच गए हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia