मरा नहीं, जिंदा है लिट्टे प्रमुख प्रभाकरन, पत्नी और बेटी के साथ है सुरक्षित- तमिल नेता का सनसनीखेज दावा

नेदुमारन ने कहा कि चूंकि वर्तमान वैश्विक स्थिति आशावादी है और राजपक्षे शासन समाप्त हो गया है, इसलिए वह अब इसका खुलासा कर रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि वह प्रभाकरन की अनुमति से यह घोषणा कर रहे हैं।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

तमिल राष्ट्रवादी नेता और विश्व तमिल परिसंघ के अध्यक्ष पाझा नेदुमारन ने सोमवार को दावा किया कि लिट्टे नेता वेलुपिल्लई प्रभाकरन जिंदा हैं और वह अपनी पत्नी और बेटी के साथ रहते हैं। नेदुमारन ने इस सनसनीखेज दावे के साथ कहा कि प्रभाकरन के ठिकाने का खुलासा उचित समय पर किया जाएगा।

तंजावुर में मीडिया को संबोधित करते हुए नेदुमारन ने कहा कि श्रीलंका सरकार ने लिट्टे प्रमुख प्रभाकरन को भारत विरोधी के रूप में चित्रित किया था। नेदुमारन ने कहा, चूंकि वर्तमान वैश्विक स्थिति आशावादी है और राजपक्षे शासन समाप्त हो गया है, इसलिए वह अब इसका खुलासा कर रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि वह प्रभाकरन की अनुमति से यह घोषणा कर रहे हैं।


तमिल राष्ट्रवादी नेता ने यह भी कहा कि प्रभाकरन के जिंदा होने की जानकारी से श्रीलंका में तमिलों में बहुत विश्वास पैदा होगा। श्रीलंका के पूर्व सांसद शिवाजी लिंगम ने भी कहा कि श्रीलंका सरकार ने प्रभाकरन के शव की पुष्टि नहीं की है। उन्होंने कहा कि नेदुमारन द्वारा प्रभाकरन के जीवित होने की घोषणा से दुनिया भर के तमिल लोगों को बहुत खुशी मिली है।

गौरतलब है कि मई 2009 में लिट्टे और श्रीलंकाई सेना के बीच निर्णायक लड़ाई के बाद यह घोषणा की गई थी कि प्रभाकरन मारा गया है। इसके सबूत के तौर पर कुछ तस्वीरें भी जारी की गई थीं। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के एक पूर्व नेता नेदुमारन को इंदिरा गांधी की जान बचाने का श्रेय दिया जाता है, जब उनकी तमिलनाडु यात्रा के दौरान एक हिंसक भीड़ ने उन पर हमला कर दिया था।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


/* */