लखनऊः चिताओं का वीडियो वायरल होने पर श्मशान को ढका गया, कांग्रेस ने कहा- मौतों को छिपाने की बेशर्म कोशिश

लखनऊ के बैकुंठ धाम श्मशान घाट में दर्जनों कोरोना मृतकों की चिताएं जलने का वीडियो वायरल होने के बाद आज इस श्मशान को चारों ओर से ढक दिया गया। यूपी कांग्रेस ने इसे बेशर्मी बताते हुए कहा कि यह मौतों को छिपाने की कवायद है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ समेत सूबे के कई जिलों में कोरोना वायरस का कहर जारी है। हालत ये है कि इस संकट में जहां बेड्स की कमी की वजह से अस्पतालों में मरीजों की कतारें हैं, तो वहीं मरने के बाद श्मशान के बाहर अंतिम संस्कार के लिए भी लंबी कतारें लगी है, जिससे कोरोना से हो रही मौतों का अंदाजा होता है। ऐसी खबरें सामने आने के बाद अब कोरोना से मौतों को छिपाने की कवायद शुरू हो गई है।

दरअसल बीते दिनों लखनऊ के बैकुंठ धाम श्मशान घाट का एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें दर्जनों चिताएं एक साथ जल रही थीं। इस वीडियो के वायरल होने पर यूपी में स्वास्थ्य सेवा की अव्यवस्था की पोल खुल गई और लोग सरकार को कठघरे में खड़ा करने लगे। भारी फजीहत के बाद अब इस श्मशान घाट के चारों ओर अस्थाई टीन लगाकर इसी पूरी तरह से ढक दिया गया है। ये टीन की चहारदिवारी लखनऊ नगर निगम द्वारा करवाई गई है।

लखनऊ के भैसाकुंड स्थित बैकुंठ धाम यहां के सबसे बड़े श्मशान घाट में से एक है। कोरोना से हो रही मौतों के बाद अंतिम संस्कार के लिए शवों को यहीं लाया जा रहा है। हालात ये हैं कि श्मशान के बाहर लाश रखी गाड़ियों की लंबी कतारें लगी रह रही हैं, तो अंदर चिताओं के लिए लकड़ियां कम पड़ने लगी हैं। इसी श्मशान में एक साथ कई चिताएं जलने का वीडियो वायरल हुआ था। जिसे लेकर लोगों ने सवाल खड़े करने शुरू किए तो अब श्मशान के चारों ओर अस्थाई टीन लगाकर उसे ढक दिया गया है।

शमशान घाट ढंकने पर उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने तीखा हमला किया है। यूपी कांग्रेस ने प्रदेश सरकार पर मौत के आंकड़े छिपाने की कोशिश करने का आरोप लगाया है। यूपी कांग्रेस ने ट्वीट कर कहा, “तुम लाख छुपाओ बेशर्मी मगर, दुनिया को पता चल जाता है। लखनऊ में बैकुंठ धाम सड़क को चारों ओर से कवर किया जा रहा है।

श्मशान घाट को चारों तरफ से ढंके जाने पर आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने भी सवाल उठाया है। उन्होंने टीन से ढंकने का वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा कि अगर अस्पताल बनाने में इतनी मेहनत की होती तो श्मशान छिपाने की जरूरत नहीं पड़ती।

बता दें कि लखनऊ में कोरोना वायरस का कहर टूट पड़ा है। यहां रोजाना करीब 5000 के आसपास केस आ रहे हैं। साथ ही लगातार मौतों की संख्या भी बढ़ती जा रही है। शहर में हाहाकार मचा हुआ है। अस्पतालों के अंदर बेड्स नहीं हैं, ऑक्सीजन नहीं मिल रहा, तो इलाज से पहले लोगों को जांच के लिए लंबा इंतजार करना पड़ रहा है। इस बीच कोरोना के प्रकोप को देखते हुए लखनऊ समेत प्रदेश के दस जिलों में नाइट कर्फ्यू का समय बढ़ाते हुए रात 8 से सुबह 7 बजे तक कर दिया गया है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय